नई दिल्ली, जागरण संवाददाता/एजेंसी। JNU Violence News दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में 5 जनवरी की शाम को हुई हिंसा के विरोध में जेएनयू टीचर्स और छात्रों का मार्च मंडी हाउस से जंतर मंतर तक पैदल मार्च जारी है। इसमें बड़ी संख्या में जेएनयू टीसर्च और छात्र शामिल हैं। थोड़ी देर पहले जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार भी शामिल हुए हैं। 

JNU Violence News :

  • एचआरडी मंत्रालय ने यह बात भी साफ किया है कि हमारा उद्देश्‍य शैक्षणिक कार्यों पर ध्‍यान लगाना है ना कि राजनीतिक गतिविधियों पर।
  • JNU VC को हटाने की मांग पर अड़े छात्रों को HRD ने का जवाब, कहा- यह समस्‍या का हल नहीं। एचआरडी सेकेट्ररी अमित खरे ने बताया कि संशोधित शुल्क लागू नहीं होने के छात्रों के दावों पर एचआरडी मंत्रालय ने शुक्रवार को जेएनयू वीसी से फिर बात करेगा। 
  • एचआरडी मंत्रालय के अधिकारी सचिव अमित खरे ने बताया शुक्रवार को वीसी से बैठक करने के बाद फिर जेएनयू के छात्र संघ के सदस्‍यों से मुलाकात होगी।
  • दिल्‍ली पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को राष्‍ट्रपति भवन जाने वाले रास्‍ते रायसीना रोड पर रोक दिया है। हालांकि छात्र अभी भी प्रदर्शन कर रहे हैं।  
  • जेएनयू के छात्र व शिक्षक रविवार को हुई घटना के विरोध में मंडी हाउस पहुंचे हैं। फिलहाल फिरोज शाह रोड की तरफ शिक्षक और छात्र पैदल मार्च कर रहे हैं। 
  • इस बीच जेएनयू वीसी ने 5 जनवरी को हुई हिंसा की जांच के लिए पांच सदस्यीय कमेटी जांच करेगी। 
  • मिली जानकारी के मुताबिक, यह मार्च मंडी हाउस से लेकर जंतर मार्च तक चलेगा। मार्च को लेकर टीचर्स और प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि इस हिंसा के बाद जेएनयू वीसी एम. जगदीश कुमार को तत्काल हटाया जाए। वहीं, हिंसा को लेकर पूरे मामले की जांच की जाए।
  • मार्च के मद्देनजर जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के बाहर दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी है। कैंपस के बाहर और अंदर दोनों जगहों पर सुरक्षा बदल तैनात हैं।
  • जेएनयू में सुरक्षा इस कदर सख्त है कि कैंपस के अंदर मीडिया कर्मियों को भी नहीं जाने दिया जा रहा है।

  • सूत्रों के मुताबिक, मंडी हाउस से जंतर मंतर तक मार्च के दौरान स्थिति के मद्देनजर कुछ मेट्रो स्टेशनों को बंद करने का निर्णय भी लिया जा सकता है। 
  • यह भी जानकारी सामने आ रही है कि मार्च में शामिल होने के लिए टीचर्स और छात्र बसों के जरिये भी मंडी हाउस पहुंच सकते हैं, जहां से यह मार्च शुरू होकर जंतर मंतर जाएगा।
  • बुधवार को मुंबई में प्रदर्शन के दौरान जेएनयू हिंसा को लेकर फिल्म अभिनेता दलीप ताहिल (Actor Dalip Tahil) ने कहा कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हिंसा का संबंध नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) से है। जेएनयू में हुई हिंसा और अब प्रदर्शन पहले से ही तय है।

 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस