भोपाल, एजेंसियां। मध्य प्रदेश में आज सियासी भूचाल आ गया। मध्य प्रदेश में आज होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री कमल नाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। मध्य प्रदेश में सियासी संकट के बीच सीएम कमल नाथ ने अपना इस्तीफा देने का फैसला किया। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कर भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि प्रदेश की जनता ने मुझे पांच साल सरकार चलाने का बहुमत दिया था। लेकिन भाजपा ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा दिया। लेकिन जनता उन्हें माफ नहीं करेगी।

MP Government Floor Test News:

- पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अगर मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार गिरी है तो उनकी आंतरिक कलह की वजह से गिरी है। उन्हें आत्ममंथन करना चाहिए कि यह स्थिति क्यों पैदा हुई है।

- भोपाल में भाजपा कार्यालय में मिठाइयां बांटी गई। भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान, मध्य प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव और अन्य नेता इस दौरान उपस्थित रहे।

- भोपाल में विधानसभा में भाजपा विधायकों ने विजयी मुद्रा में अपने हाथ दिखाए। गौरतलब है कि कांग्रेस के कमलनाथ ने आज राज्य विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले राज्य के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

- भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान और पार्टी के अन्य नेता भोपाल स्थित पार्टी कार्यालय पहुंचे। कमलनाथ ने राज्य के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है।

- इस्तीफे के बाद कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि आज मध्य प्रदेश के उम्मीदों और विश्वास की हार हुई है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि आज मध्य प्रदेश की उम्मीदों और विश्वास की हार हुई है, लोभी और प्रलोभी जीत गए हैं। मध्य प्रदेश के आत्मसम्मान को हराकर कोई नहीं जीत सकता।मैं पूरी इच्छाशक्ति से मध्यप्रदेश के विकास के लिए काम करता रहूंगा।

- दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित भारतीय जनता पार्टी के सारे विधायक विधानसभा पहुंचे हैं।

- समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। उन्होंने पत्र में लिखा कि पिछले दो सप्ताह में मध्य प्रदेश में जो कुछ हुआ है, वह लोकतांत्रिक सिद्धांतों के कमजोर पड़ने का एक नया अध्याय है।

- सीएम कमलनाथ भोपाल के राजभवन पहुंचे। उन्होंने राज्य विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से पहले सीएम के पद से इस्तीफा दे दिया, जो आज होना था।

- इस बीच मध्य प्रदेश के निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल ने कमलनाथ के इस्तीफे की घोषणा के बाद कहा है कि मैंने कहा था कि जब तक कमलनाथ हैं, मैं उनका समर्थन करता रहूंगा। लेकिन मेरी प्राथमिकता मेरे निर्वाचन क्षेत्र के लोगों, उनके विकास और श्रमिकों का सम्मान है। मुझे लगता है कि अब नेतृत्व की अनुपस्थिति में यह संभव नहीं है।

उन्होंने आगे कहा कि निर्दलीय विधायक होने के नाते, अब मेरे पास और कोई विकल्प नहीं है, लेकिन अपने लोगों के विकास के लिए जो नई सरकार बनेगी, उसका समर्थन करने के लिए। मैंने उनसे(भाजपा) से बात की है।

- इस बीच दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी विधायक दल की बैठक में शिवराज सिंह चौहान को नेता चुना गया है।

- दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक मुख्यमंत्री कमल नाथ राज्यपाल को इस्तीफा देने राजभवन पहुंचे हैं। इससे पहले सीएम कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया था कि उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का फैसला किया है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मैंने आज राज्यपाल को अपना इस्तीफा देने का फैसला किया है।

- दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी ने स्पष्ट किया है कि पार्टी अभी विपक्ष में है। कमल नाथ सरकार के इस्तीफे देने के बाद भाजपा की एक बार फिर विधायक दल की बैठक होगी। जिसमें नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव का इस्तीफा होगा और उसके बाद नए नेता का चुनाव किया जाएगा। भाजपा के सभी विधायकों अभी थोड़ी देर में विधानसभा पहुंचेंगे। 

- कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि हमने हमने पहले दिन से काम शुरू कर दिया। किसानों की ऋण माफी के लिए कदम उठाया। शुद्ध का युद्ध, माफिया के खिलाफ अभियान शुरू किया। इसके अलावा भी कमल नाथ ने कई योजनाओं का जिक्र किया। मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि प्रदेश की जनता ने मुझे पांच साल सरकार चलाने का बहुमत दिया था। लेकिन भाजपा ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा शुरू से कहती आ रही है कि ये सरकार सिर्फ 15 दिन चलेगी।

- सीएम कमलनाथ ने कहा कि इस देश के लोग उस घटना के पीछे की सच्चाई देख सकते हैं जहां विधायकों को बेंगलुरु में बंधक बनाया जा रहा है...सच्चाई सामने आ जाएगी। लोग उन्हें माफ नहीं करेंगे।कमलनाथ ने कहा कि भाजपा पिछले 15 महीनों से सरकार गिराने की साजिश कर रही है। धोखा देने वालों को प्रदेश की जनता कभी भी माफ नहीं करेगी। महाराज के साथ मिलकर भाजपा ने जनता को धोखा दिया है। 

- फ्लोर टेस्ट से पहले एमपी के सीएम कमलनाथ ने कहा कि जनता ने हमें 5 साल का मौका दिया था। पिछले 15 महीनों में हमने काफी काम किया।

- दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक, मप्र विधानसभा के स्पीकर एनपी प्रजापति ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि मप्र के इतिहास में एक साथ इतनी विधायकों के इस्तीफे कभी नहीं हुए। उन्होंने कहा कि मैंने दुखी मन से सभी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए। अभी तक कुल 23 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए जा चुके हैं। इसमें एक शहडोल विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक शरद कोल भी शामिल है।

- मप्र विधानसभा अध्यक्ष ने समाचार एजेंसी एएनआइ को बताया कि मैंने कल रात 16 इस्तीफे स्वीकार किए थे। अब मैंने शरद कोल (भाजपा विधायक) का इस्तीफा भी स्वीकार कर लिया है। उन्होंने पहले कहा था कि उन्हें जबरदस्ती इस्तीफा देने के लिए बनाया गया था, लेकिन उनके दस्तावेजों को देखने के बाद और वह मुझसे व्यक्तिगत रूप से नहीं मिले, ऐसा नहीं लगता था।

- कांग्रेस विधायक आज मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के आवास पर विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से पहले पहुंचे हैं। अब से थोड़ी देर में विधानसभा में फ्लोर टेस्ट को लेकर कार्रवाई शुरू होगी।

- दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक, समाजवादी पार्टी और बसपा विधायक फ्लोर टेस्ट में हिस्सा नहीं लेंगे।

- फ्लोर टेस्ट से पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस विधायक दल की बैठक सुबह 11 बजे से मुख्यमंत्री निवास पर होगी। उसके बाद दोपहर 12 बजे मुख्यमंत्री कमल नाथ सीएम हाऊस में ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।

- कांग्रेस ने आज फ्लोर टेस्ट से पहले अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी किया है। सभी विधायकों को फ्लोर टेस्ट के दौरान सदन में उपस्थित रहने के लिए कहा गया है।

- मध्य प्रदेश में जारी सियासी संकट के बीच मध्य प्रदेश के मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि इस बार उन्होंने (भाजपा) ने हॉर्स ट्रेडिंग नहीं की, वे हाथी के व्यापार में लिप्त रहे। हम बहुमत साबित करेंगे। हमारे साथ 'फॉर्मूला 5' है। खुलासे दोपहर 12 बजे (एमपी सीएम की प्रेस कॉन्फ्रेंस में) किए जाएंगे। यह खुलासा किया जाएगा कि 16 विधायकों को बंदी कैसे बनाया गया।

उन्होंने साथ ही कहा कि यह खुलासा भी किया जाएगा कि कैसे पोहरी विधायक सुरेश धाकड़ की बेटी ने शिवपुरी में आत्महत्या की है। यह खुलासा किया जाएगा कि कैसे कुरवाई विधायक को उनके भतीजे की मृत्यु होने पर भी जाने की अनुमति नहीं दी गई थी। यह सत्ता की भूख की पराकाष्ठा है।

- मध्य प्रदेश में बहुमत परीक्षण से पहले कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो रही है। कांग्रेस के दिग्विजय सिंह से जब पूछा गया कि क्या मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ इस्तीफा दे रहे हैं तो इस पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं, इसके लिए प्रतीक्षा करें।

- भोपाल में कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज सीएम कमलनाथ के आवास पर सुबह 11 बजे होगी।सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार आज मध्य प्रदेश  विधानसभा में फ्लोर टेस्ट आयोजित किया जाएगा।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस