भोपाल, राज्‍य ब्‍यूरो। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के गृह जिले छिंदवाड़ा में छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा को लेकर कांग्रेस और भाजपा नेता आमने-सामने आ गए हैं। क्षेत्रीय सांसद और मुख्यमंत्री के पुत्र नकुलनाथ ने सोशल मीडिया पर मोर्चा खोलते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर राजनीतिक रोटियां सेंकने आ रहे हैं तो छिंदवाड़ा का विकास मॉडल भी जरूर देखें। इसके जवाब में शिवराज ने कहा कि शिवाजी का अपमान मैं तो क्या, देश का कोई व्यक्ति नहीं सहेगा।

 शिवराज बोले-शिवाजी का अपमान देश नहीं सहेगा

नकुलनाथ ने ट्वीट में शिवराज को दोपहर के भोजन पर आमंत्रित किया और कहा कि वे भोजन के बाद छिंदवाड़ा का विकास मॉडल जरूर देखें। नकुलनाथ के ट्वीट के बाद शिवराज से जब दैनिक जागरण के सहयोगी प्रकाशन नईदुनिया ने बात की तो उन्होंने हंसते हुए कहा कि भतीजे (नकुलनाथ) को यह समझना चाहिए कि भोजन का आमंत्रण ट्विटर पर नहीं दिया जाता है। व्यक्तिगत रूप से आमंत्रित किया जाता है। छिंदवाड़ा विकास मॉडल पर उन्होंने कहा कि प्रदेश में केवल विनाश मॉडल बना है। कहीं, कोई विकास मॉडल नहीं है।

यह है मामला

तीन दिन पहले छिंदवाड़ा के सौंसर में मोहगांव तिराहे पर हिंदूवादी संगठन ने शिवाजी की प्रतिमा स्थापित करने की अनुमति नगरपालिका से मांगी थी। नगरपालिका में अध्यक्ष कांग्रेस के हैं। नगरपालिका अनुमति देता, इसके पहले ही संगठन ने चौराहे पर शिवाजी की प्रतिमा रख दी। एसडीएम को जानकारी मिली तो उन्होंने रातोंरात उसे हटवा दिया। वहां धारा 144 भी लगा दी गई। सुबह कई हिंदू संगठन, व्यापारियों व सामाजिक संगठनों ने चक्काजाम किया। एसडीएम व कांग्रेस विधायक विजय चौरे ने चर्चा की और शिवाजी जयंती (19 फरवरी) को प्रतिमा स्थापित करने पर सहमति बनी। तैयारियां जारी हैं। कांग्रेस को नुकसान न हो और भाजपा इसे मुद्दा न बना ले इसलिए डैमेज कंट्रोल शुरू हो गया है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस