मुंबई, एएनआइ। Maharashtra Government Formation, महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस की बैठक खत्म हो गई है।  शनिवार को तीनों दलों द्वारा साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी। बैठक के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार का नेतृत्व करने के लिए उद्धव ठाकरे पर सहमति बन गई है। अन्य मुद्दों पर फिलहाल बातचीत जारी है।

Maharashtra Government Formation LIVE:

उद्धव ठाकरे करेंगे महाराष्ट्र सरकार को लीड: शरद पवार

कल तीनों दलों की प्रेस कॉन्फ्रेंस

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी के बीच जारी आखिरी दौर की बैठक खत्म हो गई है। बैठक के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा, 'कल तीनों दलों द्वारा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी। बातचीत अभी भी जारी है। कल हम यह भी तय करेंगे कि राज्यपाल से कब संपर्क किया जाए। 

संजय राउत, अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे मौजूद

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर मुंबई में कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की बैठक शुरू हो गई है। बैठक में शिवसेना के एकनाथ शिंदे, संजय राउत, कांग्रेस के अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, के सी वेणुगोपाल और एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल, अजीत पवार मौजूद हैं।

कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी की बैठक

मुंबई: कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी की बैठक के लिए नेहरू केंद्र पहुंचे।

कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की बैठक

मुंबई: कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हम (कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना) बैठक के लिए जा रहे हैं, वहां पर चर्चा होगी। हम बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।

आगे तक नहीं चलेगी सरकार- गडकरी

महाराष्ट्र में सरकार गठन पर सियासी चर्चाओं के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के बीच वैचारिक मतभेद है।यहां गठबंधन होने के बाद भी सरकार बहुत आगे नहीं चलेगी।

कांग्रेस-NCP और सहयोगियों की बैठक जारी

मुंबई में कांग्रेस-एनसीपी के नेताओं और अन्य गठबंधन सहयोगियों के बीच बैठक चल रही है। इस बैठक में महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर और शिवसेना से गठबंधन को लेकर चर्चा हो रही है। आज शाम करीब 4 बजे कांग्रेस-एनसीपी और अन्य घटक दल के नेता, शिवसेना के नेताओं से मुलाकात करने वाले हैं।

शिवसेना का होगा अगला मुख्यमंत्री- मानिकराव ठाकरे

महाराष्ट्र में सरकार गठन की चर्चाओं के बीच कांग्रेस नेता मानिकराव ठाकरे ने शुक्रवार को कहा कि महाराष्ट्र में अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा, उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय बैठक में एनसीपी ने किसी शीर्ष पद की कोई मांग नहीं की है। उन्होंने साफ किया कि एनसीपी ने ऐसी कोई मांग कभी नहीं उठाई। समाचार एजेंसी एएनआइ ने इसकी जानकार दी है।

शिवसेना के नेताओं की बैठक

महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रक्रिया में तेजी को देखते हुए उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को अपनी पार्टी के विधायकों से मुलाकात की और राज्य में राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की। शिवसेना के विधायक भास्कर जाधव ने पीटीआई को बताया कि इस बैठक में विधायकों को सरकार गठन प्रक्रिया और कांग्रेस-राकांपा नेताओं की दिल्ली में हुई बैठकों से अवगत कराया गया। बता दें, बीती रात ठाकरे ने मुंबई में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात की। जाधव ने कहा कि ठाकरे जो भी फैसला लेंगे शिवसेना के सभी विधायकों को यह मानना होगा।

शिवसेना के विधायकों से मुलाकात के बाद भास्कर जाधव ने पीटीआई को बताया, 'उद्धवजी मिले और हमसे कहा कि सेना के नेतृत्व वाली सरकार के गठन की प्रक्रिया अंतिम दौर में है।'

लीलावती अस्पताल पहुंचे राउत

महाराष्ट्र में सरकार गठन पर चर्चा के बीच संजय राउत लीलावती अस्पताल पहुंचे।उन्होंने यहां रूटीन चेकअप कराया है। संजय राउत की इस महीने की शुरुआत में एक एंजियोप्लास्टी हुई। इसको लेकर वह आज रूटीन जांच कराने के लिए पहुंचे।

'पूरे 5 साल शिवसेना का ही मुख्यमंत्री'

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी गहमागहमी के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक बड़ा बयान दिया। संजय राउत ने कहा है कि पूरे पांच साल तक महाराष्ट्र में शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होगा। संजय राउत के इस बयान से महाराष्ट्र की सियासत में और भूचाल आने की संभावना है। महाराष्ट्र में माना जा रहा है कि सीएम पद को लेकर शिवसेना और एनसीपी के बीच 50:50 फार्मूले पर बातचीत तय हुई है।

मुख्यमंत्री पद की दौड़ पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र के लोग और शिवसैनिक चाहते हैं कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे राज्य के मुख्यमंत्री बनें।

दरअसल, शिवसेना सांसद संजय राउत से जब पूछा गया कि अगर शरद पवार महाराष्ट्र के सीएम पद के लिए उनका नाम सुझाते हैं तो इसपर उन्होंने कहा कि यह गलत है। महाराष्ट्र के लोग उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं।

ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री

अभी कांग्रेस और एनसीपी नेताओं की ओर से सरकार के प्रारूप पर कोई जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन माना जा रहा है कि सीएम पद पर 50:50 फार्मूला लागू होगा। यानी पहले ढाई साल शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा और बाकी के ढाई साल राकांपा का। उपमुख्यमंत्री पद पूरे पांच साल कांग्रेस के पास रहेगा। मंत्री पद में संख्या बल के हिसाब से हिस्सेदारी होगी और अहम मंत्रलयों में भी तीनों दलों का प्रतिनिधित्व होगा। सरकार के लिए साझा कार्यक्रम तैयार होगा और समन्वय के लिए भी व्यवस्था तैयार की जा सकती है, ताकि विवाद की स्थिति न खड़ी हो।

एनसीपी-कांग्रेस के अलावा कई छोटे दल भी इस महागठबंधन का हिस्सा होंगे, जिसमें स्वाभिमान शेतकारी संगठन, पीजेंट एंड वर्कर्स पार्टी ऑफ इंडिया, समाजवादी पार्टी भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में जारी सियासी गहमागहमी से जुड़ी खबरें

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप