मुंबई, एएनआइ। शिवसेना के विधायकों की बगावत के चलते महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी गठबंधन की सरकार का अंत तय माना जा रहा था। वहीं, अब शिवसेना नेता संजय राउत ने गठबंधन को लेकर बड़ा बयान दिया है। संजय राउत ने गुरुवार को कहा कि अगर बागी विधायक 24 घंटे के भीतर मुंबई लौटते हैं तो शिवसेना महाविकास अघाड़ी से बाहर आने को तैयार है।

संजय राउत ने कहा, 'विधायकों को गुवाहाटी से संवाद नहीं करना चाहिए, वे वापस मुंबई आएं और सीएम से इस सब पर चर्चा करें। हम सभी विधायकों की इच्छा होने पर महाविकास अघाड़ी से बाहर निकलने पर विचार करने के लिए तैयार हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें यहां आना होगा और सीएम से इस पर चर्चा करनी होगी। संजय राउत के बयान के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भूचाल आ गया है।

इससे पहले संजय राउत ने 21 बागी विधायकों से संपर्क का दावा किया था। संजय राउत ने कहा था कि सीएम उद्धव ठाकरे बहुत जल्द वर्षा बंगले में वापस आएंगे। उन्होंने कहा कि गुवाहाटी में 21 विधायकों ने हमसे संपर्क किया है और जब वे मुंबई लौटेंगे, तो वे हमारे साथ आएंगे।

हमें समस्या नहीं- कांग्रेस

संजय राउत के बयान के बाद कांग्रेस की भी प्रतिक्रिया सामने आई है। महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख नाना पटोले ने कहा, 'हम भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए शिवसेना के साथ हैं। ये खेल ईडी की वजह से हो रहा है। कांग्रेस फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है। हम महाविकास अघाड़ी के साथ हैं और रहेंगे, हमें सत्ता का कोई लालच नहीं है। पटोले ने ये भी कहा कि अगर शिवसेना किसी के साथ गठबंधन करना चाहते हैं, तो हमें कोई समस्या नहीं है।

क्या बोली एनसीपी?

इसके अलावा महाविकास अघाड़ी में सहयोगी पार्टी एनसीपी के नेता जयंत पाटिल ने ट्वीट किया है। पाटिल ने कहा कि महाराष्ट्र विकास अघाड़ी महाराष्ट्र के विकास और कल्याण के लिए स्थापित सरकार है। हम अंत तक उद्धवजी ठाकरे के साथ मजबूती से खड़े हैं। मुझे विश्वास है कि कोई भी सच्चा शिवसैनिक ऐसा व्यवहार नहीं करेगा जो आदरणीय बालासाहेब ठाकरे के विचारों को धोखा दे।

Edited By: Manish Negi