नई दिल्‍ली, एएनआइ। शिवसेना अध्‍यक्ष उद्धव ठाकरे गुरुवार शाम मध्‍य मुंबई के दादर में स्थित शिवाजी पार्क में महाराष्‍ट्र के अगले मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने जा रहे हैं। इसकी तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। इस शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी समेत कई बड़े नेताओं के शामिल होने की उम्‍मीद है। इस समारोह में शिकरत करने के लिए महाराष्‍ट्र के 400 से अधिक किसानों को भी आमंत्रित किया गया है। हालांकि, इस बीच बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने भी उद्धव ठाकरे के शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण समारोह को लेकर बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने नसीहत दी है।

400 किसानों को शपथ ग्रहण समारोह का न्‍योता

शिवसेना नेता विनायक राउत ने बताया कि महाराष्‍ट्र के अलग-अलग जिलों से लगभग 400 किसानों को भी उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया गया है। इसके अलावा जिन किसानों ने आत्‍महत्‍या की, उनके परिवार के सदस्‍यों को भी सम्‍मान देने के लिए इस शपथ ग्रहण समारोह में बुलाया गया है। बता दें कि महाराष्‍ट्र में विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों के मुद्दे काफी गूंजे थे। देवेंद्र फडणवीस ने भी दूसरी बार मुख्‍यमंत्री बनने के बाद अपनी सरकार की पहली बैठक में बारिश से प्रभावित किसानों के लिए 5380 करोड़ रुपये के राहत पैकेज को मंजूरी दी थी।

अजीत पवार भी रहेंगे मौजूद, विधायकों को किया सूचित

अजीत पवार ने एनसीपी की बैठक में शामिल होने के बाद कहा कि कल मुख्‍यमंत्री शपथ ग्रहण करने जा रहे हैं। मैंने अपने सभी विधायकों को इस बारे में सूचित कर दिया है। साथ ही सभी से कहा गया है कि इस कार्यक्रम में मौजूद रहें।

सोनिया गांधी समेत कई मुख्‍यमंत्री आमंत्रित

कांग्रेस नेता विजय वादेत्तिवार ने बताया कि गुरुवार को होने जा रहे उद्धव ठाकरे के शपथग्रहण समारोह के लिए कांग्रेस के सभी मुख्यमंत्रियों, एमके स्टालिन, ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल को भी आमंत्रित किया गया है। वहीं शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने कहा कि हमने कल उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए सोनिया गांधी को आमंत्रित किया है।

बॉम्‍बे हाई कोर्ट की नसीहत 

शिवसेना अध्‍यक्ष उद्धव ठाकरे के शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण समारोह को लेकर बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने आपत्ति जताई है। कोर्ट ने शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण समारोह को लेकर सुरक्षा की दृष्टि से चिंता व्‍यक्‍त की है। बॉम्‍बे हाई कोर्ट का कहना है कि सार्वजनिक मैदान में इस तरह के समारोह आयोजित करना एक नियमित परंपरा नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा होता है, तो हर कोई ऐसे समारोहों के लिए पार्कों का उपयोग करना चाहेगा, जस्टिस एससी धर्माधिकारी और आरआइ चागला की एक खंडपीठ ने यह बात कही। कोर्ट ने साथ ही यह भी स्‍पष्‍ट कर दिया कि अदालत शपथ ग्रहण समारोह के बारे में कुछ नहीं कह रही है। उद्धव ठाकरे गुरुवार शाम मध्‍य मुंबई के दादर में स्थित शिवाजी पार्क में महाराष्‍ट्र के अगले मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने जा रहे हैं। कोर्ट ने कहा, 'हम कल के शपथ ग्रहण समारोह के बारे में कुछ भी नहीं कहना चाहते हैं। हम केवल प्रार्थना कर रहे हैं कि इस समारोह के दौरान कोई भी अनहोनी न हो।' बता दें कि एनजीओ द्वारा जनहित याचिका दायर किए जाने के बाद हाईकोर्ट ने 2010 में इस क्षेत्र को साइलेंस जोन घोषित कर दिया था।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस