कोलकाता, जेएनएन। पिछले रविवार को कोलकाता पुलिस कमिश्नर के घर अचानक सीबीआइ टीम के पहुंचने के बाद से राज्य की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने सीबीआइ और केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले दिया है। शुक्रवार शाम को कोलकाता पुलिस ने सीबीआइ के पूर्व अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव के कथित तौर पर दो अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की। एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक एक लोकेशन कोलकाता में है और दूसरा सॉल्ट लेक में, जहां एंगेला मर्केंटाइल प्राइवेट लिमिटेड पर छापा मारा गया और इसे सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक की पत्नी से संबद्ध बताया गया। हालांकि खुद राव ने इससे इनकार किया है। इसको लेकर लिखित सफाई दी है।

कोलकाता में छापेमारी को लेकर सीबीआइ के पूर्व अंतरिम डायरेक्टर राव ने कहा कि जो कुछ भी यह हो रहा है, सब प्रॉपेगैंडा दिखाई देता है। वहीं, एएनआइ ने पूर्व सीबीआइ चीफ एम नागेश्वर राव का 30 अक्टूबर 2018 का बयान भी जारी किया है, जिसमें उन्होंने एंगेला मर्केंटाइल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के साथ किसी प्रकार का लिंक होने से इनकार किया था

ज्ञात हो बता दें कि एंजेला मर्केंटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड एक गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी (NBFC) है। यह कथित तौर पर फरवरी 1994 में शुरू की गई थी। शशि अग्रवाल, प्रतीक अग्रवाल, प्रवीण अग्रवाल और सुनील कुमार अग्रवाल इस कंपनी के निदेशक हैं। 

Posted By: Arun Kumar Singh