बिलासपुर, राज्य ब्यूरो। छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार लॉकडाउन का शत-प्रतिशत अनुपालन कराने के लिए सख्त हो गई है। इसका उदाहरण रविवार को देखने को मिला। बिलासपुर में अपने आवास पर मुफ्त राशन बांटने के लिए भीड़ जुटाने पर प्रशासन ने सत्ता दल के विधायक शैलेष पांडेय के खिलाफ धारा 144 का उल्लंघन करने और महामारी अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं बसपा विधायक इंदू बंजारे के पति और ससुर पर भी मुकदमा कायम किया गया है।

कांग्रेस विधायक लॉकडाउन में रोजगार से वंचित लोगों को मुफ्त राशन बंटवा रहे थे

जानकारी के अनुसार रविवार सुबह कांग्रेस विधायक शैलेष पांडेय ने अपने वेयर हाउस स्थिति सरकारी बंगले पर मुफ्त राशन बंटवा रहे थे। हालांकि उनका मकसद लॉकडाउन में रोजगार से वंचित लोगों की मदद करना था, लेकिन भीड़ बढ़ने से प्रशासन कार्रवाई पर बाध्य हुआ। पुलिस अधिकारियों ने राशन लेने जुटी भीड़ को भगा दिया।

बसपा विधायक के पति व ससुर ने पुलिसकर्मी को दी गाली-गलौज व जान से मारने की धमकी

दूसरी तरफ जांजगीर चाम्पा जिले के पामगढ़ सीट से बसपा विधायक इंदु बंजारे के पति व ससुर पर ऑन ड्यूटी पुलिसकर्मी से गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी देने और धक्का-मुक्की का मामला सामने आया। पुलिस के अनुसार रक्षित केंद्र जांजगीर के आरक्षक नरेंद्र बंजारे की ड्यूटी थाना पामगढ़ क्षेत्र में लगाई गई थी।

समय पूर्व खोली दुकान पर भीड़ थी, दुकान बंद को लेकर हुआ विवाद, आपराधिक मामला दर्ज

घटना के दौरान आरक्षक नरेंद्र बंजारे ससहा बैरियर की ओर अपने सहकर्मी के साथ जा रहा था। इस दौरान भिलौनी गांव में पामगढ़ विधायक के पति उत्तम भरद्वाज एवं ससुर ईश्वरी भारद्वाज के द्वारा समय पूर्व दुकान खोलकर भीड़ की गई थी, जिसे बंद करने के लिए आरक्षक नरेंद्र बंजारे ने समझाया। इस दौरान विवाद हुआ। इस मामले में आरक्षक की तहरीर पर दोनों के खिलाफ भादवि की धारा 34, 188, 353, 294, 506, 332 के तहत अपराध दर्ज किया गया। पामगढ़ पुलिस दोनों फरार आरोपित की तलाश कर रही है।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस