पणजी, एएनआइ। गोवा में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके मद्देनजर सभी पार्टियां जनता को लुभाने में लगी है। आम आदमी पार्टी (आप) भी अपने वादों के साथ जनता के बीच उतर गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने यहां कहा, 'युवाओं ने मुझसे कहा कि अगर यहां किसी को सरकारी नौकरी चाहिए होती है, तो उसकी पहचान किसी मंत्री, विधायक से होनी चाहिए। गोवा में बिना रिश्वत/सिफारिश के सरकारी नौकरी पाना संभव नहीं है। हम इसे खत्म कर देंगे। गोवा के युवाओं का यहां सरकारी नौकरियों पर अधिकार होगा।'

केजरीवाल बोले कि हम गोवा के हर घर में एक नौकरीपेशा युवक को नौकरी देने की व्यवस्था करेंगे। उन्हें नौकरी मिलने तक 3000 रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता के रूप में मिलेगा। 80% नौकरियां गोवा के युवाओं के लिए आरक्षित होंगी। हम गोवा के युवाओं के लिए भी 80% प्राइवेट नौकरियां आरक्षित करने के लिए कानून लाएंगे।

उन्होंने आगे कहा कि पर्यटन पर निर्भर परिवार COVID के कारण बेरोजगार हो गए, उनका रोजगार बहाल होने तक उन्हें 5000 रुपये प्रति माह दिया जाएगा। खदानें बंद होने से खनन पर निर्भर परिवार परेशानी में हैं, खनन शुरू होने तक उन्हें भी प्रतिमाह 5000 रुपये दिए जाएंगे।

Edited By: Nitin Arora