उडुपी, आइएएनएस। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि गोहत्या रोधी अधिनियम के अमल से उन्हें संतोष मिला है। देश के आजाद होने के सत्तर साल बाद भाजपा को इस कानून को लागू करने में सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि देश को पहले कमजोर और गरीब के रूप में देखा जाता था। लेकिन अब भारत आत्मनिर्भर है।

तटीय उडुपी जिले में उछिला श्री महालक्ष्मी मंदिर में मछुआरे समुदाय के देवता मोगावीरा के दर्शन के बाद येदियुरप्पा ने मंगलवार को कहा कि दुनिया के नजरिये में यह बदलाव आने की दो वजहें हैं। पहला, देश में शांतिपूर्ण माहौल के बीच उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर का निर्माण और दूसरा कर्नाटक में मेरा गोहत्या बंद कराने के कानून पर अमल कराना। उन्होंने कहा कि उनके मुताबिक भाजपा महात्मा गांधी के राम राज्य की भावना को चरितार्थ कर रही है।

शांति और संतोष हासिल करने के लिए उडुपी के मंदिरों का किया दर्शन: येदियुरप्पा

उडुपी जिले के दो दिवसीय मंदिर भ्रमण पर निकले येदियुरप्पा ने कहा कि वह राजनीतिक गतिविधियों से कुछ समय के लिए अवकाश चाहते थे, इसीलिए शांति और संतोष हासिल करने के लिए उन्होंने उडुपी के मंदिरों के दर्शन का फैसला लिया। अगर हमें शांति और संतोष मिलता है तभी हम जनकल्याण के लिए कार्य कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अपने आप को पुर्नजागृत करने के लिए कभी-कभी दुनिया के मामलों से खुद को अलग कर लेना चाहिए।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021