राज्‍य ब्‍यूरो, श्योपुर (मध्‍य प्रदेश)। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने कहा कि सरकार किसी की भी हो सांप्रदायिक सद्भाव बचाए रखना मेरी जिम्मेदारी है और मैं इस जिम्मेदारी को भली-भांति निभाने में सक्षम हूं। सरकार बात नहीं सुनेगी तो मैं आपकी आवाज बनूंगा।

मुस्लिम समाज के विभिन्न संगठनों से संवाद कार्यक्रम

ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश के श्योपुर के जमातखाना में मुस्लिम समाज के विभिन्न संगठनों से संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। शहर काजी अतीक उल्लाह कुरैशी की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सिंधिया से कांग्रेस की सरकार में भी उनके साथ भेदभाव की शिकायत की गई।

अधिकतर आरोप जिला प्रशासन पर लगे सिंधिया ने कहा कि मुझे इसकी कोई परवाह नहीं है कि सरकार किसकी है, लेकिन अभिव्यक्ति के अधिकार को नहीं छीना जाना चाहिए, मैं इस बात का पक्षधर हूं। अगर मेरी सरकार भी आपकी बात नहीं सुनेगी तो मैं आपकी आवाज बनूंगा।

सिंधिया ने कहा, किसानों का कर्ज पूर्ण रूप से नहीं हुआ माफ 

सिंधिया ने पिछले दिनों भिंड में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की संगोष्ठी में प्रदेश सरकार के कामकाज को लेकर तीखे तेवर दिखाए और सरकार पर करारा प्रहार किया। उन्‍होंने कहा कि किसानों के सिर्फ 50 हजार रुपये तक के कर्ज माफ हुए हैं, जबकि हमने दो लाख तक का कर्ज माफ करने की बात कही थी। किसानों के दो लाख रुपये तक के कर्ज माफ होने चाहिए।

अपनी भूमिका तलाश रहे सिंधिया 

पिछले साल नवंबर में मध्‍य प्रदेश हुए विधानसभा चुनाव के दौरान वह मुख्यमंत्री पद के सशक्त दावेदार थे, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष के नाते और वरिष्‍ठ नेता होने के नाते कमलनाथ का दावा आलाकमान को मजबूत लगा और उन्होंने सिंधिया की जगह कमलनाथ को नेता चुन लिया। तब से सिंधिया अपनी भूमिका की तलाश कर रहे हैं। सिंधिया को राहुल गांधी का नजदीकी माना जाता है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस