नई दिल्ली, प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई कैबिनेट में जदयू और अन्नाद्रमुक को जगह मिल सकती है। इसके अलावा कैबिनेट में पश्चिम बंगाल और तेलंगाना जैसे राज्यों को भी ज्यादा प्रतिनिधित्व मिल सकता है, जहां पार्टी ने बेहतरीन उपस्थिति दर्ज कराई है।

जदयू के एक नेता ने कहा कि उनकी पार्टी 30 मई को गठित होने जा रही नई सरकार में कम से कम एक प्रतिनिधि के शामिल किए जाने की अपेक्षा कर रही है। कई नेताओं का मानना है कि पिछली सरकार के ज्यादातर अहम सदस्यों को कैबिनेट में बरकरार रखा जाएगा।

नई कैबिनेट में राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण, रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल, नरेंद्र सिंह तोमर और प्रकाश जावड़ेकर जैसे पुराने चेहरे बने रह सकते हैं। ऐसी भी अटकलें हैं कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है। हालांकि, शाह ने इस मुद्दे पर अब तक कोई टिप्पणी नहीं की है।

सूत्रों ने बताया कि भाजपा की सहयोगी लोजपा के प्रमुख रामविलास पासवान ने अपने सांसद पुत्र चिराग पासवान को मंत्री बनाने की सिफारिश की है। पासवान पिछली सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। अन्नाद्रमुक को इस बार सिर्फ एक सीट मिली है। तमिलनाडु में सत्तासीन होने के कारण उसे एक मंत्रिपद दिया जा सकता है। भाजपा ने इन चुनावों में पश्चिम बंगाल में 18 और तेलंगाना में चार सीटें जीती हैं। इस कारण पार्टी नई सरकार में दोनों राज्यों को ज्यादा प्रतिनिधित्व दे सकती है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhupendra Singh