नई दिल्ली (एएनआइ)। एक बेबस मां ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अपनी बेटी को बचाने की गुहार लगाई है। हैदराबाद की रहने वाली नूरजहां का कहना है कि उनकी बेटी को नौकरी के बहाने तस्करी करके ओमान ले जाया गया है। उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की अपील की है। नूरजहां का आरोप है कि नौकरी देने वाली कंपनी उनकी बेटी का शोषण कर रही है। पिछले महीने महिला के परिवार ने हैदराबाद में मामले में अंबरपेट पुलिस स्टेशन में एफआइआर दर्ज कराई थी।

पीड़िता के पति शेख जहांगीर ने कहा कि वो और उनकी पत्नी बेगम प्रवीन एक ट्रैवेल एजेंट से मिले थे, जिसका नाम जावीद था। जावीद ने ओमान में नौकरी दिलाने की बात कही थी। शेख जहांगीर का कहना है कि प्रवीन नौकरी के लिए ओमान 21 फरवरी को रवाना हुई थी। वहां प्रवीन को कई लोगों के घर में जबरन काम करना पड़ रहा है, उससे कई घरों में काम कराया जाता है और वहां उसके साथ मारपीट भी की जाती है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि उनकी पत्नी को काम के लिए एक भी पैसा नहीं दिया जा रहा है।

प्रवीन का मां नूरजहां बेगम का कहना है कि एजेंट ने हमे बताया था कि उनकी बेटी एक अस्पताल में काम करेगी, लेकिन जब वह वहां पहुंची तो उसने हमे बताया कि उसे घर में कामवाली की तरह काम करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। शुरुआत के तीन महीने सब कुछ अच्छा था, लेकिन बाद में उसका शोषण होने लगा और जबरन उससे कई घरों में काम कराया जाता है। उसे वहां खाना खाने को नहीं दिया जाता है। मेरी बेटी ने हमसे अपील की है कि उसे जल्द से जल्द वहां से बचाया जाए। नूरजहां ने बताया कि उनकी बेटी की तबीयत बहुत ज्यादा खराब है और उसे किसी भी तरह की मेडिकल मदद नहीं दी जा रही है। परिवार ने बताया कि जिस एजेंट ने उन्हें नौकरी दिलाई थी, वह भी फरार हो गया है।

Posted By: Arti Yadav