रायपुर, जेएनएन। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (T S Singh Deo) सोमवार को फिर से दिल्ली जाएंगे। सिंहदेव शनिवार को तीन दिन के लिए दिल्ली गए थे, लेकिन उनके विधानसभा क्षेत्र में मासूम बच्चों की मौत की घटना की वजह से रविवार को उन्हें लौटना पड़ा। सोमवार को उनकी दिल्ली वापसी को लेकर चर्चाओं का बाजार गरम हो गया है।

शनिवार को टीएस सिंहदेव के अचानक दिल्ली जाने से सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया था। सिंहदेव के करीबी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने सिंहदेव को बुलाया था। वहीं, सिंहदेव ने एयरपोर्ट पर मीडिया से चर्चाओं के दौरान किसी से मुलाकात का समय तय होने की बात से इन्कार किया था। सिंहदेव ने कहा था कि दिल्ली आना-जाना होता रहता है, उसी तरह की एक और यात्रा है। दिल्ली में किसी से मुलाकात के सवाल पर उन्होंने कहा था कि रविवार का दिन है, वहां कौन रहेगा, नहीं रहेगा पता नहीं। एक-दो दिन वहां रुकने का कार्यक्रम है। इस दौरान पार्टी के किसी नेता से मुलाकात हो सकी तो जरूर कोशिश करुंगा। उन्होंने बताया था कि प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया से मुलाकात के लिए बात हुई है, लेकिन वे भी दिल्ली से बाहर हैं।

नेतृत्व परिवर्तन के मुद्दे पर भूपेश बघेल ने कहा, आलाकमान के फैसले को मानूंगा

ढाई-ढाई साल के मसले को लेकर छत्तीसगढ़ की राजनीति गर्माती जा रही है। टीएस सिंहदेव लगातार दिल्ली में अपने समर्थकों के साथ डेरा जमाए हैं। वहीं, राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की खबर के बीच सीएम भूपेश बघेल ने कहा है कि आलाकमान का जो फैसला होगा, उसे वो स्वीकार करेंगे। टीएस सिंहदेव के बयान पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सब तो चलता रहेगा। मैं पहले भी कह चुका हूं हाईकमान जो भी निर्णय लेगा, सब मानेंगे। एक ही बात बार बार दोहराने का क्या फायदा।

Edited By: Neel Rajput