मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बेंगलुरु, पीटीआइ। कर्नाटक के सियासी नाटक के अभी और चलने के आसार नजर आ रहे हैं। राज्यपाल वजूभाई वाला ने भी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जदएस गठबंधन सरकार को बहुमत साबित करने के लिए आज यानी शुक्रवार दोपहर 1.30 बजे तक का वक्‍त दिया था, लेकिन अब वो भी समाप्‍त हो गया है। ऐसे में क्‍या भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष बीएस येद्दयुरप्‍पा द्वारा कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार को लेकर शुक्रवार की सुबह की गई भविष्‍यवाणी सही साबित होगी?

कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला द्वारा मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी को शुक्रवार दोपहर तक विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए कहे जाने के बीच येद्दयुरप्‍पा ने इस गठबंधन सरकार के गिर जाने का अनुमान व्यक्त किया और कहा कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ विचार विमर्श करने के बाद भावी कार्यक्रम तय करेगी।

राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को शुक्रवार डेढ़ बजे तक विधानसभा में बहुमत साबित करने के सवाल पर येद्दयुरप्‍पा ने यह भविष्‍यवाणी कर दी कि आज एचडी कुमारस्‍वामी के लिए मुख्‍यमंत्री के रूप में आखिरी दिन होगा। उन्‍होंने कहा, 'आज कांग्रेस जद (एस) सरकार के कुशासन का अंत हो जाएगा...। मुख्यमंत्री अपना विदाई भाषण देंगे, हम उसे (भाषण को) ध्यान से सुनेंगे।'

उन्होंने कहा, 'सदन की आज की कार्यवाही के नतीजे के आधार पर हम अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से चर्चा करेंगे और भावी कार्यक्रम तय करेंगे।' येद्दयुरपा ने कहा कि शुक्रवार कर्नाटक में भाजपा के लिए अच्छा दिन होगा। उन्होंने बताया, 'मुझे विश्वास है कि ईश्वर की कृपा से सब कुछ अच्छा होगा।'

गौरतलब है कि विपक्ष के नेता येदियुरप्पा विश्वास मत में देरी के विरोध में अपने पार्टी विधायकों के साथ पूरी रात सदन में ठहरे रहे। सत्तारूढ़ गठबंधन और विधानसभा अध्यक्ष पर समय निर्धारित होने के बावजूद विश्वास मत में देरी की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए भाजपा नेता ने कहा कि उन्होंने बृहस्पतिवार को हमें उकसाने का प्रयत्न किया लेकिन हम चुप्प रहे।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप