नई दिल्ली, जेएनएन। बारिश का पानी सहेजने के लिए सरकार व्यापक स्तर पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग अभियान चलाने की तैयारी कर रही है। केंद्र सरकार यह अभियान राज्यों के साथ मिलकर चलाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की गवर्निग काउंसिल की शनिवार को होने वाली बैठक में इसकी रूपरेखा पर विचार-विमर्श होने जा रहा है।

सूत्रों ने बताया कि गवर्निग काउंसिल की बैठक में रेन वाटर हार्वेस्टिंग का मुद्दा सबसे ऊपर है। इसमें राज्यों से रेन वाटर हार्वेस्टिंग की योजनाएं तैयार करने के लिए आग्रह किया जाएगा। इस मुद्दे पर विचार करने के लिए काउंसिल की बैठक में जल शक्ति मंत्री को भी विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है।

नीति आयोग की गवर्निग काउंसिल रेन वाटर हार्वेस्टिंग के मुद्दे पर ऐसे समय विचार करने जा रही है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ दिन पहले ही देश के सभी सरपंचों को खुद पत्र लिखकर बारिश का पानी बचाने का इंतजाम करने को कहा है। सूत्रों ने कहा कि सरकार की कोशिश है कि बारिश के दौरान खेत का पानी खेत में जमा किया जाए, जबकि गांव का पानी गांव के पोखर व तालाब में जमा हो। इससे स्थानीय स्तर पर ही पानी की जरूरत पूरी हो सकेगी। साथ ही कृषि उत्पादकता भी बढ़ेगी।

सूत्रों ने बताया कि गांवों के साथ-साथ शहरों में भी रेन वाटर हार्वेस्टिंग को बढ़ावा देने के लिए सरकार कुछ वित्तीय प्रोत्साहन घोषित कर सकती है। यह घोषणा आगामी आम बजट में हो सकती है। रेन वाटर हार्वेस्टिंग पर सरकार के प्रस्तावित अभियान के बारे में पूछे जाने पर सूत्रों ने कहा कि अभी इसकी रूपरेखा को अंतिम रूप दिया जा रहा है। पीएम 'मन की बात' कार्यक्रम में भी इस संबंध में लोगों से अपील कर सकते हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanisk