बेंगलुरू, आइएनएस। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्रियों सिद्धरमैया और बी एस येदियुरप्पा के बीच गुप्त मुलाकात होने के जद(एस) नेता एचडी कुमारस्वामी के दावे को येदियुरप्पा ने खारिज कर दिया है। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस. येदियुरप्पा ने इंटरनेट मीडिया पर घोषणा की कि वह तब तक आराम नहीं करेंगे जब तक कि वह अगले विधानसभा चुनावों में कर्नाटक में भाजपा को सत्ता पर फिर से नहीं बिठा देते। उन्होंने कहा कि हम आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा को सत्ता में लाने के उद्देश्य से काम कर रहे हैं। मैं कभी भी विपक्षी नेता सिद्धारमैया से व्यक्तिगत रूप से नहीं मिला। इसकी कोई आवश्यकता नहीं है।

मैं उनसे केवल 27 फरवरी, 2020 को अपने जन्मदिन के अवसर पर मिला हूं। पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी कुमारस्वामी ने एक विवादास्पद बयान जारी कर कहा था कि बीजेपी येदियुरप्पा के सहयोगियों और करीबी सर्कल को आईटी छापों के माध्यम से लक्षित कर रही है क्योंकि उन्होंने कर्नाटक में सत्तारूढ़ भाजपा के कमजोर होने पर चर्चा करने के लिए मैसूर में सिद्धारमैया से मुलाकात की है।

दूसरी ओर, येदियुरप्पा ने सोशल मीडिया पर कुमारस्वामी का नाम लिए बिना सिद्धरमैया के साथ उनकी मुलाकात के दावे को खारिज किया। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी विचारधारा से कभी समझौता नहीं किया। उनका एकमात्र उद्देश्य कर्नाटक में भाजपा को सत्ता में वापस लाना है। येदियुरप्पा ने ट्वीट किया,‘27 फरवरी 2020 को अपने जन्मदिन के अलावा, मैं व्यक्तिगत रूप से विपक्ष के नेता सिद्धरमैया से नहीं मिला हूं। मुझे ऐसी मुलाकात करने की कोई जरूरत नहीं है। हम उस पार्टी में हैं जो भाजपा को राज्य में सत्ता में वापस लाने के लिए काम कर रही है।

सिद्धारमैया ने कहा,‘मैं येदियुरप्पा से उनके जन्मदिन पर मिलने गया था। मैं उनसे व्यक्तिगत रूप से मुख्यमंत्री या विपक्ष के नेता के रूप में नहीं मिला था। मैं उनसे (व्यक्तिगत रूप से) आज तक नहीं मिला हूं। हम दोनों एक ही अस्पताल में थे जब हम कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे, तब भी हम नहीं मिले थे। कलबुर्गी में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने दावा किया कि जब येदियुरप्पा मुख्यमंत्री थे तो कुमारस्वामी ही उनसे बार-बार मिलते थे।

Edited By: Shashank Pandey