नई दिल्ली, एएनआइ। देश में चुनाव के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता लागू है। लेकिन आए दिन देश के नेताओं के खिलाफ इसके उल्लंघन के मामले दर्ज किए जा रहे है। इस बीच देश के प्रधानमंत्री और विपक्षी पार्टी केअध्यक्ष दोनों के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत की गई। हालांकि अब दोनों के नेताओं को चुनाव आयोग ने क्लीन चिट दे दी है। 21.04.2019 को बाड़मेर, राजस्थान में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए भाषण में आदर्श आचार संहिता में कथित उल्लंघन के संबंध में एक शिकायत पर जांच करते हुए चुनाव आयोग ने कहा कि मौजूदा सलाहकारों / प्रावधानों का ऐसा कोई उल्लंघन दिखाई नहीं पड़ता है।

इधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत पर जांच करते हुए चुनाव आयोग ने उन्हें क्लीन चिट दे दी गई है। बता दें कि मध्यप्रदेश के जिला जबलपुर के सिहोरा में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को हत्या का आरोपी कहा था, जिसे लेकर भाजपा द्वारा चुनाव आयोग से आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन के संबंध में शिकायत की गई थी।

इसपर EC ने कहा कि डीईओ जबलपुर द्वारा भेजे गए भाषण की पूरी लिखित प्रतिलिपि की विस्तार से जांच की गई, आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों के परीक्षण के बाद, जांच में यह साफ हुआ है कि इसमें MCC का ऐसा कोई उल्लंघन नहीं किया गया है।

बता दें कि हाल ही में चुनाव आयोग ने राहुल गांधी को नरेंद्र मोदी के खिलाफ टिप्पणी पर नोटिस जारी किया है। दरअसल, राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश के शहडोल में एक रैली में कहा था कि 'नरेंद्र मोदी ने एक नया कानून बनाया है, जिसमें एक लाइन है कि आदिवासियों को गोली मारी जा सकती है।' निर्वाचन आयोग ने इस बयान को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना है और आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष से 48 घंटे में जवाब देने के लिए कहा है।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप