नई दिल्ली/ जबलपुर, एजेंसी। कांग्रेस के अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर उम्मीदवारों के नाम पर खासा चर्चा है। अध्यक्ष पद के चुनाव लड़ने पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का भी नाम उम्मदीवारी के रूप में चर्चा में था। इस बीच, दिग्विजय सिंह ने इन अटकलों पर विराम दे दिया है। जबलपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि वह कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। वह पार्टी द्वारा दिए गए निर्देश का पालन करेंगे।

वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को अपनी उम्मीदवारी की पुष्टि कर दी है। गहलोत ने यह भी कहा की कि राहुल गांधी ने स्पष्ट किया है कि गांधी परिवार का कोई भी सदस्य कांग्रेस प्रमुख नहीं बनेगा।

गहलोत को देना होगा सीएम पद से इस्तीफा

गहलोत के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के साथ ही राजस्थान कैबिनेट में फेरबदल की भी उम्मीद है। गहलोत कांग्रेस प्रमुख का पद संभालते हैं, तो उन्हें सीएम के पद से इस्तीफा देना होगा। राहुल गांधी ने भी यह स्पष्ट कर दिया है कि पार्टी के अंदर 'एक व्यक्ति, एक पोस्ट' होगा। इस स्थिति में संभावना है कि राजस्थान में सचिन पायलट को सीएम बनाया जा सकता है।

दिग्विजय सिंह की मनाही के बाद अब अशोक गहलोत और शशि थरूर कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए आमने-सामने हैं।

शशि थरूर ने सोनिया गांधी से की थी मुलाकात

19 सितंबर को शशि थरूर ने सोनिया गांधी से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में उनके निवास पर मुलाकात की थी। शशि थरूर ने सोनिया गांधी से मिलकर चुनाव लड़ने की इच्छा व्यक्त की थी। सोनिया गांधी ने तिरुवनंतपुरम के सांसद को कहा था कि कोई भी चुनाव लड़ सकता है। वहीं, थरूर ने बुधवार को पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री के साथ भी मुलाकात की थी।

गौरतलब है कि पार्टी प्रमुख के पद के लिए नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 24 सितंबर से शुरू होगी और 30 सितंबर तक जारी रहेगी। चुनाव 17 अक्टूबर के लिए निर्धारित है और वोटों की गिनती 19 अक्टूबर को होगी।

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan