मुंबई, एजेंसी। महाराष्ट्र की राजनीति में बड़े उल्टफेर के बीच पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को विपक्ष का नेता घोषित किया गया है। इसी के साथ उन्होंने किसानों को लेकर मांग राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मांग की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि राज्य विधानसभा में बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के लिए आज प्रति हेक्टेयर 25,000 रुपये की तत्काल सहायता की मांग की। सीएम उद्धव ठाकरे ने पहले ही प्रभावित क्षेत्रों में दौरा करते हुए इस सहायता की मांग की थी। अब उस मांग को पूरा करने का समय है! 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को रविवार को महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में निर्विरोध चुना गया है। रविवार को विधानसभा के स्पीकर नाना पटोले ने तालियों की गड़गड़ाहट के बीच प्रतिष्ठित पद के लिए फडणवीस के नाम की घोषणा की।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और जयंत पाटिल, एकनाथ शिंदे, बालासाहेब थोरात जैसे अन्य नेताओं ने फडणवीस को बधाई दी और उनके पद पर चुनाव का स्वागत किया। 49 वर्षीय फडणवीस को अक्टूबर 2014 में राज्य के पहले भाजपा मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया और बाद में शपथ ग्रहण किया। नवंबर 2019 में फिर से उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली उन्ही के साथ एनसीपी के अजीत पवार ने उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की थी।

हालांकी, ये सरकार ज्यादा समय के लिए नहीं रही। 80 घंटों में ही सरकार ढह गई। एनसीपी नेता अजीत पवार ने पहले भाजपा के साथ गठबंधन किया था। बाद में उन्होंने निजी कारणों का हवाला देते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद भाजपा के पास बहुमत नहीं रही, इसी कारण देवेंद्र फडणवीस को भी मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। 

जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले देवेंद्र फडणवीस ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में कार्य किया था और 1999 से लगातार पांचवीं बार नागपुर के विधायक के रूप में निर्वाचित हुए, जिसे ऑरेंज सिटी के रूप में भी जाना जाता है।

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप