जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री के संविधान बदलने के बयान से पलटने के बावजूद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने साफ संदेश दे दिया है कि इस बयान की सियासत को पार्टी नजरअंदाज नहीं करेगी। भाजपा की राजनीतिक शैली पर एक बार फिर सवाल उठाते हुए राहुल ने आरोप लगाया कि भाजपा देश के संविधान पर प्रहार कर रही है। उनके मुताबिक भाजपा राजनीति में जिस तरह झूठ का मकड़जाल बुन रही है उसमें अंबेडकर के बनाए हमारे संविधान को खतरा है।

कांग्रेस के 133वें स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी अध्यक्ष के रुप में पहली बार मुख्यालय में झंडा फहराने के बाद अपने संबोधन में राहुल गांधी ने संविधान बदलने के ताजा विवाद के बहाने भाजपा की सियासी शैली पर यह हमला बोला। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े के संविधान बदलने संबंधी बयान का सीधे जिक्र किये बिना राहुल ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ जिम्मेदार लोग संविधान बदलने की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि संविधान पर रणनीति के तहत यह प्रहार किया जा रहा है। इसीलिए कांग्रेस पार्टी ही नहीं देश के सभी नागरिकों का यह कर्तव्य है कि वे आगे आकर हमारे संविधान की रक्षा करें। राहुल ने इस संदर्भ में कांग्रेस के पूरी ताकत से ऐसे किसी प्रयास का विरोध करने की बात कही। उन्होंने कहा कि अंबेडकर के साथ संविधान बनाने में कांग्रेस ने भी अहम भूमिका निभाई और इसीलिए इसके समक्ष मंडरा रहे खतरे का मुकाबला करने में पार्टी कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

भाजपा की सियासी शैली पर सवाल उठाने के अपने सिलसिले को जारी रखते हुए राहुल ने कहा कि भाजपा इस सिद्धांत पर काम करती है कि झूठ का राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। उनका कहना था कि कांग्रेस और भाजपा में यही बुनियादी फर्क है। शायद इसीलिए हमें इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है, हमारा प्रदर्शन अच्छा नहीं होगा और यहां तक की हमें सियासी हार से भी रुबरू होना पड़ सकता है मगर कांग्रेस सच्चाई को बचाने की इस लड़ाई से पीछे नहीं हटेगी।

राहुल ने पार्टी स्थापना दिवस के मौके पर कांग्रेस के गौरवशाली अतीत की याद दिलाते हुए कहा कि हम एक सदी से अधिक समय से देश के हित के लिए काम कर रहे हैं। इसी अतीत के अनुरुप सच्चाई की राह पर चलते हुए पार्टी को राजनीतिक चुनौतियों की लड़ाई लड़नी है। पार्टी मुख्यालय 24 अकबर रोड पर स्थापना दिवस समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे।

यह भी पढ़ेंः तीन तलाक पर बिल पास होते ही मुस्लिम नेताओं ने उगला जहर, कुछ ने सराहा

यह भी पढ़ेंः खत्म हुआ तलाक तलाक तलाक.. लोकसभा में पास हुआ ऐतिहासिक बिल

Posted By: Gunateet Ojha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस