जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। विपक्षी दलों की ओर से इवीएम के फूल-प्रूफ होने पर उठाए जा रहे सवालों के बीच कांग्रेस ने 2019 के चुनाव में कम से कम 30 से 50 फीसद पेपर ट्रेल पर्चियों की गिनती कराने की मांग उठाई है।

कांग्रेस के मुताबिक चूंकि लोकसभा चुनाव में ज्यादा दिन नहीं बचे, ऐसे में चुनाव अब इवीएम से ही होंगे मगर इसकी विश्वसनीयता के लिए वीवीपैट पेपर ट्रेल पर्चियों की गिनती जरूरी है। चुनाव आयोग से मतगणना के दौरान पेपर ट्रेल पर्चियों की गिनती की मांग के मसले पर विपक्षी दलों की बैठक भी जल्द होने वाली है।

कोलकाता में यूनाइटेड इंडिया रैली के बाद विपक्षी दलों के नेताओं की वहां हुई बैठक में इवीएम के मसले पर संयुक्त रणनीति पर भी चर्चा हुई थी। विपक्षी दलों के बीच हुई मंत्रणा में इवीएम पर चर्चा की पुष्टि करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि लोकतंत्र में चुनाव की विश्वसनीयता सर्वोपरि है और इसीलिए इवीएम का पूरी तरह सुरक्षित बनाया जाना अहम है।

सिंघवी ने कहा कि इवीएम से जुड़ी वीवीपैट से निकलने वाली पेपर पर्चियों की गिनती कर इसकी विश्वसनीयता कायम रखी जा सकती है। मगर केवल एक या दो फीसद पेपर ट्रेल पर्चियों की सैंपल गिनती से बात नहीं बनेगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए जरूरी है कि 50 फीसद नहीं तो कम से कम 35 फीसद पेपर ट्रेल पर्चियों की गिनती की जाए।

 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Arun Kumar Singh