जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बयान से कांग्रेस को एक बार फिर असहज स्थिति का सामना करना पड़ा है। कांग्रेस पार्टी ने गुरुवार को सिद्धू के पाकिस्तान के साथ बातचीत करने के बयान से खुद को अलग करते हुए कहा कि यह उनके निजी हो सकते है, लेकिन कांग्रेस पार्टी का इससे कोई ताल्लुक नहीं है। पार्टी का साफ मानना है कि यह वक्त बातचीत का नहीं है।

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने गुरूवार को पत्रकारों की ओर से इसे लेकर पूछे गए सवालों पर जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि बातचीत का एक माहौल और समय होता है। यह समय उसका नहीं है।

मौजूदा समय में पाक के साथ बेहद तनावपूर्ण स्थिति है। सिद्धू इससे पहले भी कई मौकों पर कांग्रेस पार्टी को असहज स्थिति में पहुंचा चुके है। पिछले दिनों ही पार्टी ने उन्हें संवेदनशील मुद्दों पर संभलकर बोलने की नसीहत दी थी।

इसके अलावा वह हाल ही में पुलवामा हमले के बाद भी उस समय विवादों में आ गए थे, जब उन्होंने पुलवामा आंतकी हमले के बाद दिए गए अपने बयान में पाकिस्तान का बचाव करते हुए कहा था कि किसी भी आतंकी घटना के लिए पूरे देश को जिम्मेदार ठहराना ठीक नहीं है।

 

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस