नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। कांग्रेस ने राहुल गांधी समेत दर्जनों राजनेताओं-पत्रकारों और जजों समेत दूसरी हस्तियों के कथित रूप से फोन हैक कर जासूसी कराए जाने की खबरों को लेकर सरकार पर बेहद आक्रामक हमला बोला है। अंतरराष्ट्रीय मीडिया कंसोर्टियम की अध्ययन रिपोर्ट का हवाला देते हुए पार्टी ने कहा कि मोदी सरकार ने देश के संविधान और कानून पर हमला बोल दिया है। सरकार पर जासूसी का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने कहा है कि उसकी यह हरकत राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ ही नहीं, बल्कि देशद्रोह भी है। राहुल समेत विपक्षी नेताओं की जासूसी को लेकर भड़की कांग्रेस ने पेगासस जासूसी के इस ताजा प्रकरण को मानसून सत्र में उठाने के साथ प्रधानमंत्री को भी घेरने का एलान किया है।

मानसून सत्र के पहले दिन कांग्रेस ने दिखाया आक्रामक रूप

अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट में राहुल गांधी समेत अलग-अलग क्षेत्रों के प्रमुख लोगों के फोन की जासूसी कराए जाने की रिपोर्ट सोमवार को प्रकाशित होने के कुछ ही देर बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी और रणदीप सुरजेवाला ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कर मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा किया। सुरजेवाला ने कहा कि पेगासस के माध्यम से सरकार ने राहुल गांधी और दूसरे विपक्षी नेताओं, अपने मंत्रियों, जजों, पत्रकारों और यहां तक कि संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों तथा सुरक्षा-खुफिया एजेंसियों के प्रमुखों तक के फोन की अवैध तरीके से जासूसी की है।

सुरजेवाला ने कहा, लोगों के बेडरूम में पत्नी-बेटियों की बात सुन रही सरकार

कांग्रेस नेता का कहना था कि इसके जरिये सरकार आपके बेडरूम तक भी पहुंच गई है और आपकी बेटी-पत्नी की बातचीत से लेकर घर के अंदर की हर चीज पर सरकार की निगाह है। सुरजेवाला ने इसे शर्मनाक करार देते हुए कहा कि भाजपा का नाम अब भारतीय जासूस पार्टी कर दिया जाना चाहिए। पेगासस के जरिये जासूसी को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार पिछले लोकसभा चुनाव से पूर्व से ही यह काम करा रही है और सरकार की एजेंसी सीइआरटी ने 2017 में अपनी एक रिपोर्ट में इसका साफ संकेत देते हुए सतर्क किया था।

खड़गे, अधीर, प्रियंका ने भी बोला हमला, संसद में जासूसी विवाद पर संग्राम तय

राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि गृहमंत्री अमित शाह को इस्तीफा देना चाहिए और साथ ही प्रधानमंत्री की भूमिका की जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम इस मामले को संसद में उठाएंगे। लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि पीएम मोदी डिजिटल इंडिया की बात करते हैं, मगर ये तो सर्विलांस इंडिया हो गया है और सभी विपक्षी दल संसद में इसके खिलाफ मुखर आवाज उठाएंगे।

प्रियंका ने कहा, निजता के अधिकार पर गंभीर और खतरनाक हमला

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस मसले पर टवीट करते हुए कहा, 'पेगासस के जरिये जासूसी से जुड़े रहस्योद्घाटन बहुत ही घिनौनी कारगुजारियों की तरफ इशारा करते हैं। अगर ये सच है तो मोदी सरकार संविधान द्वारा देशवासियों को दिए गए निजता के अधिकार पर गंभीर और खतरनाक हमला कर रही है।' राहुल गांधी ने भी सुबह ट्वीट कर सरकार पर तंज कसते हुए कहा था, 'हम जानते हैं कि वे क्या पढ़ रहे हैं-आपके फोन की हर चीज।' अपने फोन की जासूसी किए जाने की रिपोर्ट आने के बाद शाम को राहुल ने दूसरे ट्वीट में भी भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा, 'उसके डर पर हंसी आती है-ये भारतीय जासूस पार्टी है।'

Edited By: Arun Kumar Singh