जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। पार्टी में बदलाव के लिए उदयपुर नव संकल्प की घोषणा पर अमल की दिशा में पहला कदम बढ़ाते हुए कांग्रेस ने सभी राज्यों में एक और दो जून को दो दिनों की राज्य स्तरीय कार्यशाला बुलाने का फैसला किया है। इस कार्यशाला के दौरान उदयपुर घोषणा के कार्यान्वयन की दशा-दिशा पर मंत्रणा कर प्रदेश से लेकर ब्लाक स्तर तक के संगठनात्मक बदलावों को लागू करने का खाका तैयार किया जाएगा। उदयपुर में हुए बड़े फैसलों को जमीन पर उतारने के लिए कांग्रेस महासचिवों और राज्यों के प्रभारियों की लगातार दो दिन हुई बैठक में यह फैसला किया गया।

कांग्रेस महासचिवों और प्रदेश प्रभारियों की दो दिन चली बैठक में हुआ फैसला

पार्टी मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने महासचिवों की बैठक के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्यों में होने वाली दो दिवसीय कार्यशाला के दौरान सूबे के सांसद, विधायक, पार्टी के चुनाव में उम्मीदवार रहे नेता, प्रदेश संगठन के पदाधिकारी और जिला कांग्रेस के अध्यक्ष शामिल होंगे। सभी राज्यों में वहां के कांग्रेस प्रभारी और महासचिव भी इस कार्यशाला में मौजूद रहेंगे। उन्होंने कहा कि चिंतन शिविर में हर विषय पर बदलाव के जो बिंदु निकले हैं उनकी सूची हमने तैयार की है जिसका जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन किया जाना है।

पार्टी में बड़े बदलाव को लागू करने के लिए एक और दो जून को हर प्रदेश में होगी कार्यशाला

प्रदेश स्तर पर कार्यान्वयन कार्यशाला के बाद जिला स्तर पर इसका फालोअप 11 जून को होगा और हर जिले में दो दिन की कार्यशाला होगी जिसमें ब्लाक और मंडल स्तर पर की गई घोषणाओं के कार्यान्वयन पर चर्चा होगी और इसके लिए समयसीमा तय की जाएगी। सुरजेवाला ने कहा कि नौ से 15 अगस्त के बीच हर जिला इकाई एक तीन दिवसीय आजादी गौरव यात्रा निकालेगी जिसमें आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर 75 पदयात्री अनिवार्य रूप से हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ शामिल होंगे। महासचिवों की बैठक में चौथा फैसला यह हुआ है कि युवा कांग्रेस और एनएसयूआई संयुक्त रूप से बहुत जल्द 'एक रोजगार दो' यात्रा का प्लान बनाएंगे।

Edited By: Arun Kumar Singh