जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। हरियाणा और महाराष्ट्र चुनाव में विपक्ष को तीन तलाक और अनुच्छेद 370 पर चुनौती दे रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कांग्रेस ने पीएमसी बैंक के ग्राहकों के पैसे निकालने पर लगी पाबंदी तत्काल हटाने की जवाबी चुनौती दी है। पार्टी का कहना है कि बैंक घोटालों और अर्थव्यवस्था की बदहाली से ध्यान बंटाने के लिए पीएम लगातार इन मुद्दों की आड़ ले रहे हैं। जबकि यह बेहद दुर्भाग्य की बात है कि अर्थव्यवस्था की डांवाडोल हालत के बीच भारत वैश्विक भूख सूचकांक में काफी नीचे गिरते हुए 102वें नंबर पर पहुंच गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने दिखाए वीडियो

पीएमसी बैंक से पैसा निकालने पर लगी पाबंदी के कारण हुई मौतों और पीड़ित ग्राहकों की परेशानी से जुड़े कई प्रकरणों का वीडियो दिखाते हुए कांग्रेस ने पीएम को यह जवाबी चुनौती दी। पार्टी प्रवक्ता अखिलेश प्रताप और प्रणव झा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी भी पीएम को चुनौती देती है कि अगर आपमें साहस है तो पीएमसी बैंक के ग्राहकों को अपना पूरा पैसा तत्काल निकालने की छूट दें। 24 घंटे के अंदर सारी पाबंदी अगर खत्म नहीं की जाती तो फिर विपक्ष को चुनौती देने का प्रोपगेंडा बंद कर दें।

अखिलेश प्रताप ने कहा कि किसी भी सरकार के लिए यह शर्मिदगी की बात है कि जनता अपना ही पैसा बैंक से नहीं निकाल पा रही और लाखों लोग सड़कों पर बदहवास हालत में चक्कर काट रहे। मगर सरकार की असंवेदनशीलता का आलम यह है कि केवल कारपोरेट के हित को नुकसान नहीं पहुंचे इसीलिए आमलोगों को अपने ही पैसे निकालने नहीं दिए जा रहे।

कांग्रेस ने सरकार पर लगाए कई आरोप

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री डबल इंजन की सरकारों के बेहतर नतीजे की बात करते थे मगर महाराष्ट्र में विकास के इस डबल इंजन की हालत यह है कि लोग अपने ही पैसों के लिए गुहार लगा रहे। जबकि देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो रही है और आइएमएफ, व‌र्ल्ड बैंक हो या मूडी इन अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों ने भारत के विकास दर को न केवल घटा दिया है बल्कि आर्थिक मंदी को गंभीर करार दिया है।

अखिलेश ने कहा कि सरकार इस हालत को सुधारने की बजाय औने-पौने दाम में सरकारी कंपनियों को बेच रही है जिन्हें जनता की गाढ़ी कमाई से वर्षो की मेहनत से नवरत्न कंपनी बनाया गया। प्रणव झा ने हंगर इंडेक्स में भारत के और निचले पायदान पर पाकिस्तान से भी नीचे जाने को लेकर सरकार को आड़े हांथो लिया। उन्होंने कहा कि एक ओर सरकारी गोदाम अनाजों से भरे पड़ें हैं तो लोगों के सामने भूख का संकट है और ये विरोधाभास मोदी सरकार के विकास की असलियत की तस्वीर बताते हैं।

यह भी पढ़ें: चीन की प्रतिनिधि नेता बोलीं, नहीं बर्दाश्त की जाएगी हांगकांग में आजादी मांगने की हरकत 

यह भी पढ़ें: FATF ने पाकिस्तान की उम्मीदों पर फेरा पानी, फरवरी 2020 तक ग्रे लिस्ट में ही रखने का फैसला

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप