जागरण संवाददाता,जयपुर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि अगर पार्टी आलाकमान बागियों को माफ कर दे तो वह उन्हें गले लगाने को तैयार है।

गहलोत ने कहा- सरकार गिराने के प्रयास हो रहे हैं, गृह मंत्रालय इसी काम में लगा है 

शनिवार को पहले जैसलमेर और फिर जयपुर एयरपोर्ट पर मीडिया से बात करते हुए गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राजस्थान में चल रहा तमाशा रोकना चाहिए। सरकार गिराने के प्रयास हो रहे हैं, केंद्रीय गृह मंत्रालय इसी काम में लगा है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल भी इस काम में लगे हैं। यहां हॉर्स ट्रेडिंग के रेट बढ़ गए हैं। कुछ नेता छुपे रस्तम की तरह काम कर रहे हैं।

गहलोत ने कहा- मायावती पर ईडी और सीबीआई का दबाव

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि बसपा सुप्रीमों मायावती पर सीबीआई,ईडी और आयकर विभाग का दबाव है,इसलिए वे हमारी सरकार को घेरने में जुटी है। मायावती द्वारा गहलोत सरकार को सबक सिखाने से जुड़े मामले में सीएम ने कहा कि वे ऐसा केंद्रीय एजेंसियों के दबाव में बोल रही है। उन्होंने कहा कि बसपा के 6 विधायकों ने पार्टी विधायक दल का विधिवत नियमों के अनुसार कांग्रेस में विलय किया और स्पीकर ने इसे मंजूरी दी।

गहलोत ने साधा केंद्रीय मंत्री शेखावत पर निशाना

गहलोत ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधते हुए कहा कि संजीवनी को-ऑपरेटिव सोसायटी के घोटाले में शेखावत का नाम आ चुका है। कोर्ट ने भी जांच के निर्देश दिए हैं। ऐसे में शेखावत को नैतिक आधार पर इस्तीफा देना चाहिए। शेखावत को चाहिए कि वे केंद्र सरकार ने प्रदेश के 13 जिलों में पानी उपलब्ध कराने की योजना को स्वीकृत कराए। पीएम ने विधानसभा चुनाव के दौरान इस योजना को राष्ट्रीय योजना घोषित करने का वादा किया था,लेकिन अब तक इस पर कोई काम नहीं हुआ । इस मुद्दे पर मैंने दो दिन पहले पीएम को पत्र लिखा है।

गहलोत ने कहा- पीएम मोदी ने लोगों से थाली और ताली बजवाई, नौकरी नहीं दी

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जो विधायक सरकार गिराने की साजिश में लगे थे वे अगर आलाकमान के पास जाते हैं। आलाकमान उन्हे माफ कर देता है तो मैं उन्हें गले लगा लूंगा। मुझे पार्टी ने बहुंत कुछ दिया है। तीन बार मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री, राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश अध्यक्ष पद पर रहा। मैं जो भी कर रहा हूं जनता की सेवा के लिए कर रहा हूं। उन्होंने कहा,पीएम को देश की जनता ने दो बार मौका दिया, लेकिन उन्होंने लोगों से थाली और ताली बजवाई, रोजगार उपलब्ध नहीं कराया। उन्होंने कहा कि मैं पीएम को पत्र लिखूंगा कि कोरोना के मामले में वे देश के मुख्यमंत्रियों के साथ एक और वीडियो कांफ्रेंसिंग करें। एक सवाल के जवाब में गहलोत ने कहा,मैं जयपुर में रहूंगा। मंत्री भी यहीं रहेंगे। ज्यादातर लोग आते-जाते रहेंगे। गवर्नेंस में कोई कॉम्प्रोमाइज नहीं होगा। कोरोना को लेकर रोज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर रहा हूं। कानून व्यवस्था संभाल रखी है, लेकिन सरकार बचाना भी जरूरी है।'

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस