नई दिल्ली, आइएएनएस/प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आरोपों के जवाब में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने रविवार को पलटवार करते हुए उनसे पूछा कि बताएं राजग सरकार में कितना कर्ज एनपीए बन गया? एनपीए किस सरकार के राज में कितना बढ़ा इसका असली परीक्षण यूपीए-1 व यूपीए-2 के आंकड़ों व राजग-2 के आंकड़ों से होगा।

कितने कर्ज का नवीनीकरण हुआ 

चिदंबरम ने कई ट्वीट कर कहा कि मान भी लें कि प्रधानमंत्री सही कह रहे हैं कि यूपीए में दिए गए कर्ज एनपीए हो गए तो भी उन्हें बताना चाहिए कि राजग राज में कितने कर्ज का नवीनीकरण हुआ? मई 2014 के बाद कितना कर्ज दिया गया और उनमें से कितनी राशि डूबत खाते (एनपीए) में चली गई? यह सवाल संसद में पूछा गया, लेकिन अब तक इस पर कोई जवाब नहीं आया है।

यूपीए सरकार को जिम्मेदार ठहराया था 

ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को एक कार्यक्रम में एनपीए के लिए पूर्ववर्ती यूपीए सरकार को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि 12 बड़े डिफॉल्टरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की गई है। इन पर 1.75 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है और उन्हें 2014 से पहले यह कर्ज दिया गया था। 27 अन्य बड़े डिफॉल्टरों पर भी कार्रवाई की जाएगी। उन पर करीब एक लाख करोड़ रुपये बकाया है।

Posted By: Arun Kumar Singh