बिलासपुर, एएनआइ। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव के समर्थकों ने बुधवार को बिलासपुर के कोतवाली पुलिस स्टेशन के बाहर राज्य पार्टी सचिव पंकज सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। पंकज सिंह पर एक चिकित्साकर्मी के साथ मारपीट करने का आरोप लगा है।

बिलासपुर के पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने कहा, '19 सितंबर को, हमें सरकार द्वारा संचालित छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान (CIMS) के एक कर्मचारी की शिकायत मिली। हमने अस्पताल से बरामद सीसीटीवी फुटेज के आधार पर (पंकज सिंह के खिलाफ) मामला दर्ज किया है। जांच चल रही है।' बता दें कि सिंह, देव के नजदीक माने जाते हैं।

वहीं, सिंह ने कहा कि यह (एफआईआर) बदले की कार्रवाई है। कांग्रेस विधायक शैलेश पांडे ने पुलिस कार्रवाई को 'दुर्भाग्यपूर्ण' और 'राजनीतिक साजिश' कहा। उन्होंने कहा कि यह केवल सिंह को देव के साथ निकटता के लिए फंसाया गया है।

बिलासपुर विधायक ने कहा, 'पुलिस की कार्रवाई दुर्भाग्यपूर्ण है। कार्रवाई इसलिए की गई है क्योंकि हम टीएस देव के समर्थक हैं।' बता दें कि इससे एक बार फिर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और देव के बीच आंतरिक संकट की अफवाहों को हवा मिल रही है, जो हाल ही में इतना बढ़ गया कि दोनों नेताओं को कांग्रेस आलाकमान ने सत्ता संघर्ष को सुलझाने के लिए दिल्ली बुलाया था।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रमुख मोहन मरकाम ने कहा, 'मैं राज्य में संगठन का प्रमुख हूं। न मैं (सीएम) भूपेश बघेल का समर्थक हूं और न ही (राज्य मंत्री) टीएस सिंह देव का। मैं संगठन के साथ हूं, जो सर्वोच्च है।'

झा ने कहा कि सिंह को अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है क्योंकि मामले की जांच चल रही है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कम्युनिकेशन विंग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि मामला बिल्कुल गैर राजनीतिक है क्योंकि सिंह के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद ही मामला दर्ज किया गया था।

Edited By: Nitin Arora