नई दिल्ली, एएनआइ। केंद्र सरकार ने विभिन्न दलों की अनौपचारिक बैठक बुलाई है। इस मीटिंग में वो दल शामिल हैं कि जिनके पांच या उससे अधिक सदस्य राज्यसभा में मौजूद हैं। इस मीटिंग में लंबित मुद्दों को लेकर बिजनेस एडवाइजरी कमिटी के साथ चर्चा की जाएगी।

गौरतलब है कि मानसून सत्र की शुरूआत हो चुकी है। यह 14 सितंबर से शुरू होकर अक्टूबर तक चलेगा।मालूम हो कि मानसून सत्र के लिए कई अतिरिक्त प्रबंध किए गए हैं। सत्र के दौरान राज्यसभा की कार्यवाही पहली पाली में सुबह नौ बजे से एक बजे तक और लोकसभा की कार्यवाही दूसरी पाली में तीन बजे से शाम सात बजे तक चलेगी। दोनों सदनों की लगातार 18 बैठकें होंगी और इस दौरान बीच में कोई छुट्टी या ब्रेक नहीं होगा।

सत्र शुरू होने से पहले सभी सांसदों की कराई गई कोरोना जांच

बता दें कि उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू (M Venkaiah Naidu) ने 14 सितंबर से संसद का मानसून सत्र शुरू होने से पहले अपना COVID-19 टेस्ट करवा लिया था। वहीं, सत्र शुरू होने से है सभी सदस्यों को कविड-19 टेस्ट (RT-PCR) करवाने के लिए कहा गया था। इतना ही नहीं यहां काम करने वाले सभी कर्मचारियों के लिए भी कोरोना टेस्ट अनिवार्य किया गया था।

इसके अलावा सदन में सांसदों के बैठने के लिए भी खास व्यवस्था की गई है। राज्यसभा में 57 सांसदों के बैठने की व्यवस्था की गई है जबकि 51 सदस्यों के लिए सदन की गैलरीज में और 136 सदस्यों के लिए लोकसभा कक्ष में बैठाने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा हर सीट में माइक्रोफोन लगाया गया है जिससे सदस्य चर्चा में भाग ले सकते हैं। सचिवालय के अनुसार, चैंबर में चार बड़ी डिस्प्ले स्क्रीन लगाई गए हैं और गैलरी में छह छोटी-छोटी स्क्रीन्स लगाई गई हैं, जिसमें सदस्य सदन की कार्यवाही देख सकते हैंं। इसके अलावा चार गैलरीज में छह छोटे-छोटे डिस्प्ले स्क्रीन और ऑडियो कंसोल लगाए गए हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस