नई दिल्‍ली, जेएनएन। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम ने सीबीआइ पर आरोप लगाया कि उसने जानबूझ कर एयरसेल-मैक्सिस के मनी लॉन्ड्रिंग केस से जुड़ जानकारी लीक कराई है। चार्जशीट में कहा गया है कि चिदंबरम ने वित्त मंत्री रहते हुए अपनी शक्तियों का गलत इस्तेमाल किया।

चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा कि सीबीआइ ने जानबूझ कर केस की चार्जशीट एक समाचार पत्र के जरिए लीक की है, क्‍योंकि मामले का मीडिया ट्रायल शुरू हो जाए। लेकिन सैभाग्य से हमारे देश की न्‍याय व्‍यवस्‍था में ट्रायल सिर्फ कोर्ट में कानून के तहत चलता है।

उन्‍होंने कहा कि यह एफआइपीबी है जो निर्णय लेता है कि प्रस्ताव वित्‍त मंत्री के अधिकार क्षेत्र में आता है या नहीं। एफआइपीबी ने मेरे सामने प्रस्ताव पेश किया और मैंने इसे 20 अन्य प्रस्तावों के साथ मंजूरी दे दी।

सीबीआइ ने पूर्व चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी। चार्जशीट में कहा गया है कि पी. चिदंबरम ने वित्त मंत्री रहते हुए अपनी शक्तियों का गलत इस्तेमाल किया। उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 120B और पीसी एक्ट की धारा 7, 1213(2) के तहत चार्जशीट दाखिल की गई है। इस मामले में कुल 18 लोगों को आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई थी, जबकि ईडी ने कार्ति चिदंबरम के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी।

Posted By: Tilak Raj