जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राफेल मुद्दे को जिंदा रखने की कोशिश में जुटी कांग्रेस पर भाजपा ने तीखा पलटवार किया है। संसद के भीतर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस पर 'जनता की आंख में धूल झोंकने की राजनीति' करने का आरोप लगाया, तो केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने सोशल मीडिया पर सवाल उठाया कि डूबते राजवंश को बचाने के लिए आखिरकार कितने झूठ का सहारा लिया जाएगा। जबकि संसद के बाहर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी को झूठ बोलने की मशीन बताते हुए उनपर विदेशी कंपनियों के लिए लॉबिंग करने का आरोप लगा दिया।

कांग्रेस एक झूठ को बार-बार बोलकर सच साबित करने की कोशिश में

राफेल मुद्दे पर लोकसभा के भीतर नारेबाजी करते और जेपीसी की मांग करते कांग्रेसी सांसदों को जवाब देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि इस मुद्दे पर सदन के भीतर बहस हो चुकी है और विपक्ष द्वारा उठाये गए सारे मुद्दों का बिन्दुवार जवाब दिया जा चुका है। फिर भी कांग्रेस एक झूठ को बार-बार बोलकर उसे सच साबित करने की कोशिश में जुटी है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि लोकतंत्र में राजनीति जनता की आंख में आंख मिलाकर की जाती है, लेकिन कांग्रेस झूठ के सहारे जनता की आंख में धूल झोंकने की राजनीति कर रही है। राजनाथ ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट तक ने राफेल पर सरकार को क्लीन चिट दे चुकी है, लेकिन कांग्रेस उसे भी मानने को तैयार नहीं है।

वहीं अरुण जेटली ने फेकबुक पर लिखे पोस्ट में सीएजी राजीव महर्षि की निष्पक्षता पर सवाल उठाने को लेकर कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल को आडे़ हाथों लिया। जेटली ने आरोप लगाया कि एक डूबते हुए राजवंश को बचाने के लिए कांग्रेस के सभी नेता झूठा प्रचार करने में जुटे हैं।

जेटली ने साफ किया कि 2014 में आशीष महर्षि आर्थिक मामलों के सचिव थे और वरिष्ठ सचिव होने के नाते उन्हें वित्त सचिव का भी दायित्व दिया गया था। लेकिन राफेल सौदे से उनका दूर-दूर तक कोई नाता नहीं था। जेटली के अनुसार सभी सरकारी खरीद की मंजूरी की फाइल व्यय सचिव के पास जाती है, न कि वित्त या आर्थिक मामलों के सचिव के पास।

जेटली ने आरोप लगाया कि सीएजी की रिपोर्ट देखे बिना ही कांग्रेस ने सीएजी की मंशा पर सवाल उठा दिया ताकि उसकी झूठ की दुकान चलती रहे।

वहीं कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एयरबस कंपनी के आंतरिक ईमेल के राहुल गांधी के पास पहुंचने पर सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष विदेशी कंपनियों के लिए लाबिंग करने लगे हैं। उनके जिस एयरबस के ईमेल को दिखाया जा रहा है, उसके खिलाफ संप्रग सरकार के दौरान हुए सौदे की जांच हो रही है, उसके दलाल को हाल ही में दुबई से लाया गया है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ईमानदार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने के चक्कर में राहुल गांधी अपने ही चेहरे पर कीचड़ मल रहे हैं। 

Posted By: Bhupendra Singh