नई दिल्ली, एएनआइ। विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर तैयारियां जोरों-शोरों पर चल रही है। इस साल देश के पांच राज्यों में, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा और पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं। राजनीतिक दल चुनावी मैदान में कूद पड़े हैं। आए दिन चुनावी रणनीतियों को लेकर बैठक की जा रही है। मणिपुर चुनाव से पहले, आज सुबह 11.30 बजे से भारतीय जनता पार्टी के कोर ग्रुप की बैठक दिल्ली में पार्टी के मुख्यालय में‌ की जा रही है।

मणिपुर चुनाव 2022

मणिपुर चुनाव दो चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को होने हैं और इसके परिणाम 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे। चुनाव इतने नजदीक आने के बाद सभी राजनीतिक दल बेहद सक्रिय हो गए हैं। आपको बता दें कि मणिपुर में 60 विधानसभा सीटें हैं और इस वक्त राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सत्ता में है।

क्या कहा चुनाव आयोग ने प्रेस रिलीज में

चुनाव आयोग की एक प्रेस रिलीज में कहा गया है कि COVID-19 मामलों में वृद्धि के बीच, भारत के चुनाव आयोग ने शनिवार को शारीरिक रैलियों और रोड शो पर प्रतिबंध को 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दिया है। चुनाव आयोग देशभर में बढ़ते कोविड-19 के मामलों को देखते हुए सख्त रुख अपना रहा है। इस बार कोरोना काल में हो रहे विधानसभा चुनाव में आयोग द्वारा कई प्रतिबंध लगाए गए हैं, जिनमें चुनावी रैलियों से लेकर मतदान तक कोविड प्रोटोकाल निभाना अनिवार्य होगा। लेकिन चुनाव के बढ़ते प्रचार-प्रसार को मद्देनजर रखते हुए, चुनाव आयोग ने घर-घर जाकर प्रचार करने वालों की संख्या फिलहाल 5 से बढ़ाकर 10 कर दी है।

यही नहीं, चुनाव आयोग ने COVID-19 प्रतिबंधों के साथ खुले स्थानों पर प्रचार के लिए वीडियो वैन की अनुमति दे दी है।

आपको बता दें कि मणिपुर विधान सभा का कार्यकाल, जिसमें 60 सदस्य हैं, यह 19 मार्च, 2022 को समाप्त होने वाला है। 15 मार्च, 2017 के विधानसभा चुनावों के बाद, भाजपा , नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी), नागा पीपुल्स फ्रंट और लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के गठबंधन ने सरकार बनाई थी, जिसका एन बीरेन सिंह का नेतृत्व किया। 

Edited By: Ashisha Rajput