नई दिल्ली, जेएनएन। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी और भाजपा के बीच छिड़ी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। इस बीच शाह-योगी के हेलिकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं देने का मामला चुनाव आयोग तक जा पहुंचा है। जहां भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग के समक्ष ममता सरकार की शिकायत की है। भाजपा नेताओं ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर अलोकतांत्रिक तरीके से काम करने का आरोप लगाया है।

ममता सरकार द्वारा भाजपा नेताओं के साथ किए गए व्यवहार को लेकर सोमवार को निर्मला सीतारमण की अगुआई में भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिला। जिसमें निर्मला सीतारमण, मुख्तार अब्बास नकवी, एस एस अहलूवालिया, कैलाश विजयवर्गीय शामिल थे। ममता सरकार के इस कदम पर भाजपा ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। भाजपा ने ममता बनर्जी पर तानाशाही करने का आरोप लगाया है।

चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराने वाले बाद नकवी ने कहा, 'पश्चिम बंगाल सरकार लगातार भाजपा नेताओं की रैलियों में अड़चन पैदा कर रही है। हमने चुनाव आयोग से ऐसे अधिकारियों को हटाने की मांग की है, जो लोकतंत्र के खिलाफ काम कर रहे हैं। ऐसे अधिकारियों को चिह्नितकर हटाया जाए। जिससे पश्चिम बंगाल में चुनाव के लिए स्वतंत्र और भय-मुक्त माहौल बने।'

बता दें कि रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पश्चिम बंगाल के बालुरघाट में एक रैली थी, लेकिन ममता सरकार ने योगी को इसमें शामिल होने की इजाजत नहीं दी। यहां तक कि राज्य सरकार ने उनका हेलिकॉप्टर तक लैंड नहीं होने दिया। इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के हेलिकॉप्टर को भी उतरने की इजाजत नहीं मिली थी। 

अलोकतांत्रिक और फासीवादी कदम: रविशंकर प्रसाद

योगी का हेलिकॉप्टर उतरने की इजाजत नहीं देने पर भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी राज्य सरकार को घेरा। उन्होंने इस कदम को अलोकतांत्रिक और फासीवादी बताया। प्रसाद ने कहा कि यह ममता बनर्जी और तृणमूल के अलोकतांत्रिक रिकॉर्ड का अफसोसजनक और निंदनीय सच है।

Posted By: Nancy Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप