मुंबई, प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ पॉकेटमार शब्द का प्रयोग करने के मामले में भाजपा की महाराष्ट्र इकाई ने बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी की शिकायत राज्य चुनाव कार्यालय में की है।

जनप्रतिनिधित्व कानून का उल्लंघन

पार्टी की तरफ से जारी बयान के अनुसार, भाजपा नेता प्रसाद लाड व संजय उपाध्याय ने राज्य चुनाव अधिकारी बलदेव सिंह से शिकायत करते हुए राहुल गांधी पर आदर्श आचार संहिता व जनप्रतिनिधित्व कानून के उल्लंघन का आरोप लगाया।

मोदी पॉकेटमार हैं

राहुल ने यवतमाल में मंगलवार को एक चुनावी सभा में कहा था, 'मोदी उद्योगपति अडानी व अंबानी के लाउडस्पीकर हैं। एक पॉकेटमार की तरह जो जेब काटने से पहले शोर मचाकर आपका ध्यान बांटता है। मोदी भी आपका ध्यान बंटाते हैं, ताकि वह आपका पैसा कुछ उद्योगपतियों में बांट सकें।'

प्रधानमंत्री मोदी का चरित्रहनन है

भाजपा के बयान के अनुसार, 'यह प्रधानमंत्री मोदी का चरित्रहनन है। चुनाव आयोग को राहुल के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।' अतिरिक्त चुनाव अधिकारी दिलीप शिंदे ने कहा कि उन्हें शिकायत मिली है। उन्होंने इस मुद्दे पर यवतमाल के अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है।

शिवसेना सांसद पर चाकू से हमला

शिवसेना सांसद ओमराजे निंबालकर पर आज उनकी प्रचार सभा के दौरान एक व्यक्ति ने चाकू से हमला किया। चाकू सांसद के हाथ में लगा है और वह सुरक्षित हैं।

नाराज समर्थक ने चुनाव प्रचार के दौरान कलाई पर चाकू से किया हमला 

ओमराजे निंबालकर उस्मानाबाद से सांसद हैं। वह बुधवार को अपने क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले पाडोली नायगांव में प्रचार के लिए गए थे। सभा से पहले वह जैसे ही अपनी कार से उतरे एक 20 वर्षीय युवक ने उनसे हाथ मिलाने के बहाने उनकी कलाई पर चाकू से हमला कर दिया। लेकिन चाकू कलाई में पहनी घड़ी पर लगा, जिसके कारण सांसद किसी गहरी चोट से बच गए। इसके बाद हमलावर युवक चाकू वहीं छोड़कर भाग गया। हमलावर युवक की पहचान अजिंक्य टकले के रूप में की गई है। बताया जाता है कि लोकसभा चुनाव में वह ओमराजे निंबालकर का कट्टर समर्थक था। लेकिन अब किसी कारण वह उनसे नाराज है, और उनके विरुद्ध अपनी फेसबुक पर कई पोस्ट डाल चुका है।

सांसदों-विधायकों की सुरक्षा बहाल हो

बता दें कि ओमराजे निंबालकर के पिता पवनराजे निंबालकर की 2006 में मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर उनकी कार में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता एवं पूर्व सांसद पद्मसिंह पाटिल मुख्य आरोपी हैं। आज खुद पर हमले के बाद ओमराजे निंबालकर ने खुद को सुरक्षित बताते हुए शांति बनाए रखने की अपील की है। दूसरी ओर शिवसेना ने इस घटना को सांसदों-विधायकों की सुरक्षा हटाए जाने से जोड़ते हुए उन्हें सुरक्षा देने की मांग की है। शिवसेना प्रवक्ता नीलम गोरे ने कहा है कि चुनाव बाद सांसदों-विधायकों की सुरक्षा फिर से बहाल करने पर विचार होना चाहिए।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस