नईदुनिया, झाबुआ। मध्य प्रदेश के झाबुआ से विधायक और रतलाम लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी गुमानसिंह डामोर ने शनिवार को दिए जिन्ना वाले भाषण पर रविवार को यू-टर्न ले लिया। पत्रकारों से चर्चा में वे बोले कि उन्होंने जिन्ना नहीं, बल्कि सरदार वल्लभ भाई पटेल को देश का पहला प्रधानमंत्री बनाने की बात कही थी। भाषण को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। हालांकि भाषण के वीडियो में स्पष्ट रूप से जिन्ना के बारे में बात करते दिख रहे हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ने कहा है कि विशेष विमान से डामोर को पाकिस्तान भेजना चाहिए। उन्होंने अपना पाकिस्तान प्रेम झलकाया है। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या डामोर पाकिस्तान के एजेंट हैं? क्या आइएसआइ के लिए काम करते हैं? जिन्ना के प्रति प्रेम दिखाने पर लालकृष्ण आडवाणी जैसे नेता को भी भाजपा ने नहीं छोड़ा था। अब भाजपा डामोर के खिलाफ क्या करेगी?

मालूम हो, यह विवाद शनिवार को रानापुर की सभा के बाद शुरू हुआ। मंच से डामोर ने कहा था कि मोहम्मद अली जिन्ना विद्वान व्यक्ति थे। नेहरू जी ने जिद करते हुए उन्हें प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया। इससे देश का विभाजन हुआ है। जिन्ना प्रधानमंत्री बन गए होते तो देश का विभाजन नहीं होता और कश्मीर समस्या भी नहीं होती। हालांकि डामोर ने नेहरू और कांग्रेस पर विभाजनकारी नीतियों पर चलने का जो आरोप लगाया था, उस पर वे कायम रहे। कांग्रेस प्रत्याशी के बयान के संबंध में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रति उनके नहीं, कांग्रेस के दिल में प्रेम है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप