चेन्‍नई (एएनआई)। तमिलनाडु में विधायकों के मासिक वेतन में बढ़ोतरी से संबंधित विधेयक का प्रस्‍ताव राज्‍य मुख्‍यमंत्री इ पलानीस्वामी  ने बुधवार को विधानसभा में पेश किया।

एक ओर जहां तमिलनाडु के बस कर्मचारी वेतन वृद्धि की मांग को लेकर हड़ताल पर हैं, वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री के इस प्रस्‍ताव का विपक्ष द्वारा विरोध किया गया। हालांकि मुख्‍यमंत्री ने कर्मचारियों की मांग को देखते हुए 750 करोड़ रुपये बकाया देने की मांग को स्वीकार कर लिया है।

विधेयक में विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास निधि भी 2 करोड़ से बढ़ाकर 2.5 करोड़ करने का प्रावधान है। यही नहीं, विधायकों की मासिक पेंशन भी 20 हजार रुपये तक बढ़ा दी गई है।

इस विधेयक का विपक्षी पार्टी द्रमुक ने विरोध किया है। द्रमुक नेता एमके स्टालिन ने कहा कि ऐसे समय में, जब बस कर्मचारी अपनी मांग को लेकर हड़ताल कर रहे हैं, विधायकों का वेतन बढ़ाने से लोग उन पर हंसेगे। इसके अलावा एआईएडीएमके से अलग हुए दिनाकरन ने भी विरोध किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पहले ही नुकसान उठा रही है, ऐसे में वेतन नहीं बढ़ाया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: हवाला फार्मूला से आरके नगर में जीते दिनाकरन : पलानीस्वामी

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस