Move to Jagran APP

Bihar Politics: बिहार में नेता पुत्रों-बाहरियों को टिकट देने पर कांग्रेस में अंदरूनी बवाल, सूबे के कई नेताओं ने जताई नाराजगी

Bihar Politics बिहार के कुछ अन्य वरिष्ठ नेता जिसमें निखिल कुमार और विजय शंकर दूबे जैसे नाम शामिल हैं वे भी टिकट बंटवारे में हुई अनदेखी को लेकर नाराज हैं। दिलचस्प यह है कि बिहार में नौ सीटों पर चुनाव लड़ रही कांग्रेस के उम्मीदवारों में चार नेता पुत्र हैं। इसमें आकाश सन्नी हजारी और अंशुल के अलावा भाजपा से आए मुजफ्फरपुर से उम्मीदवार अजय निषाद शामिल हैं।

By Jagran News Edited By: Narender Sanwariya Published: Tue, 23 Apr 2024 11:45 PM (IST)Updated: Tue, 23 Apr 2024 11:45 PM (IST)
Bihar Politics: बिहार में नेता पुत्रों-बाहरियों को टिकट देने पर कांग्रेस में अंदरूनी बवाल (File Photo)

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। बिहार में कांग्रेस के नौ उम्मीदवारों की सूची में भी नेता पुत्रों को तवज्जो दिए जाने को लेकर सूबे के पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं के बीच जबरदस्त नाराजगी और बेचैनी है। सूबे के नेताओं का साफ कहना है कि नेताओं के सगे-संबंधियों के राजनीतिक कैरियर की शुरूआत और बाहर से आए प्रवासी सियासी पंक्षियों के लिए कांग्रेस की चुनावी जीत के फार्मूले की कुर्बानी दी गई है।

अंशुल अविजित को उम्मीदवार बनाने का एलान

प्रदेश के कुछ नेताओं ने तो कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी से लेकर पार्टी नेतृत्व तक अपनी नाराजगी और शिकायत पहुंचा दी है। कांग्रेस ने बिहार के पांच उम्मीदवारों की सोमवार को सूची जारी करने के बाद मंगलवार को पटना साहिब की एक बची सीट पर पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के बेटे अंशुल अविजित को उम्मीदवार बनाने का एलान कर दिया।

कांग्रेस के छह उम्मीदवारों की सूची लंबे समय तक लटकी रही

अंशुल अकेले नेता संतान नहीं है जो कांग्रेस की नौ उम्मीदवारों की सूची में हैं। बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह के बेटे आकाश प्रसाद सिंह को महराजगंज से पार्टी का उम्मीदवार बनाया गया है। बिहार के कई पार्टी नेताओं का कहना है कि आकाश को टिकट दिलाने की रस्साकशी के लिए ही कांग्रेस के छह उम्मीदवारों की सूची लंबे समय तक लटकी रही। टिकट की दावेदारी में शामिल प्रदेश के कुछ नेताओं ने हाईकमान को यह तर्क भी दिया कि आकाश 2019 के चुनाव में रालोसपा के उम्मीदवार के तौर पर मोतिहारी सीट से चुनाव हार गए थे। हालांकि इसके बावजूद महराजगंज के कुछ स्थानीय प्रभावशाली नेताओं के मुकाबले आकाश की सियासी लॉबिंग भारी पड़ गई।

पार्टी के लिए उपहास की स्थिति

सूत्रों ने बताया कि इसी तरह समस्तीपुर से नीतीश सरकार में मंत्री जदयू नेता माहेश्वर हाजारी के बेटे सन्नी हजारी को कांग्रेस उम्मीदवार बनाए जाने का खुला विरोध करते हुए बिहार कांग्रेस विधायक दल के नेता रहे अनुभवी डॉ अशोक राम ने सोनिया गांधी को सोमवार को पत्र लिखकर टिकट बंटवारे में हुई गड़बड़ी पर पुनर्विचार करने की मांग की है। कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य रहे चुके अशोक राम ने कहा कि कार्यकर्ताओं की जगह जदयू नेता के बेटे को टिकट देने से पार्टी के लिए उपहास की स्थिति पैदा हो गई है।

बाहरियों को उम्मीदवार बनाने से कार्यकर्ताओं में निराशा

बिहार कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता किशोर कुमार झा ने कहा कि 2019 के चुनाव में पुर्णिया में भाजपा से आए उदय सिंह पप्पू और मुंगेर में जदयू से आयी नीलम देवी को टिकट देने का प्रयोग सफल नहीं हुआ और दोनों हार गए फिर भी बाहरियों को उम्मीदवार बनाने से कार्यकर्ताओं में निराशा है। झा ने यह भी कहा कि चुनाव के बाद बाहर से आए ये सभी नेता कांग्रेस को मजबूत करने की बजाय अपनी पुरानी पार्टियों में लौटने से गुरेज नहीं करेंगे।

टिकट बंटवारे में हुई अनदेखी को लेकर नाराज

बताया जाता है कि बिहार के कुछ अन्य वरिष्ठ नेता जिसमें निखिल कुमार और विजय शंकर दूबे जैसे नाम शामिल हैं वे भी टिकट बंटवारे में हुई अनदेखी को लेकर नाराज हैं। दिलचस्प यह है कि बिहार में नौ सीटों पर चुनाव लड़ रही कांग्रेस के उम्मीदवारों में चार नेता पुत्र हैं। इसमें आकाश, सन्नी हजारी और अंशुल के अलावा भाजपा से आए मुजफ्फरपुर से उम्मीदवार अजय निषाद शामिल हैं।

निषाद पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत कैप्टन जयनारायण निषाद के बेटे हैं और चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस में शामिल हुए थे। वहीं सासाराम से टिकट पाने में कामयाब रहे मनोज कुमार बसपा से आकर कांग्रेस का टिकट लेने में कामयाब रहे हैं। दिलचस्प यह भी है कि बिहार में कांग्रेस के सभी नौ उम्मीदवारों की सूची में केवल तीन कटिहार से तारिक अनवर, भागलपुर से अजीत शर्मा और किशनगंज से डा जावेद ही पार्टी कैडर से आए नेता हैं। 

यह भी पढ़ें: Bihar Politics: 'नरेंद्र मोदी के रहते...', चुनाव के बीच मांझी का बड़ा बयान; नीतीश कुमार का लिया नाम


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.