रायपुर, राज्‍य ब्‍यूरोलोकसभा चुनाव से पहले सरकार ने दो पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और अजीत जोगी को घेरने के लिए अंतागढ़ टेप कांड की एसआइटी जांच का बड़ा दांव खेला है।

पुलिस मुख्यालय के आला अधिकारियों ने बताया कि अंतागढ़ कांड में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी व पूर्व सीएम रमन सिंह के दामाद पुनित गुप्ता के बीच बातचीत का ऑडियो है। इसमें सात करोड़ की डील पर चर्चा की जा रही है।

पीएचक्यू के आला अधिकारियों ने बताया कि एक ऑडियो में अजीत जोगी और तत्कालीन कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम की बातचीत भी सामने आई थी, जिसकी फोरेंसिक जांच नहीं की गई है। इस मामले में कुल सात ऑडियो सामने आए थे, जिसकी फोरेंसिक जांच के बाद आगे की कार्रवाई करने की तैयारी है।

टेपकांड में जोगी के करीबी माने जाने वाले फिरोज सिद्दीकी का नाम भी सामने आया था। बताया जा रहा है कि हाल में संपन्न् हुए विधानसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कथित टिकट की सौदेबाजी वाले वीडियो का मास्टरमाइंड भी फिरोज को माना जाता है।

ऐसे में जांच के दायरे में फिरोज को शामिल किया गया है। फिरोज के इस कथित वीडियो के बाद छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधना शुरू कर दिया था और भूपेश बघेल की मुख्यमंत्री पद की दावेदारी पर भी सवाल खड़ा होने लगा था। ऐसे में अब सरकार ने एक साथ डॉ रमन, अजीत जोगी, अमित जोगी, फिरोज सिद्दीकी जैसे विरोधियों पर शिकंजा कसने की कोशिश की है।

कांग्रेस ने प्रदेशभर में बजाया था अंतागढ़ टेप
कांग्रेस ने अमित जोगी और पुनित गुप्ता तथा मंतूराम-अजीत जोगी की बातचीत वाले आडियो को पूरे प्रदेश में बजाया था। इसके लिए बकायदा एक सप्ताह तक प्रदेश स्तर से लेकर ब्लाक स्तर पर प्रदर्शन किया गया था। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने इस टेप के माध्यम से जोगी-रमन गठजोड़ पर भी वार किया था।

भाजपा में शामिल हो गये थे मंतूराम
अंतागढ़ टेपकांड के बाद मंतूराम पंवार भाजपा में शामिल हो गये थे। इस बार विधानसभा चुनाव में मंतूराम अंतागढ़ से भाजपा उम्मीदवारों के पैनल में भी शामिल थे, लेकिन आखिरी समय में विक्रम उसेंडी बाजी मारने में सफल हुए। हालांकि विक्रम को भी विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था।

यह था मामला
-2014 में अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस ने मंतूराम पवार को बनाया था प्रत्याशी
-29 अगस्त को मंतू ने नाम वापस ले लिया और भाजपा को वाकओवर मिल गया
-नवंबर 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने टेप कांड की याचिका स्वीकार किया था

ये हैं जांच टीम में
एसआइटी में रायपुर एसपी नीथू कमल, क्राइम डीएसपी अभिषेक माहेश्वरी, तेलीबांधा टीआइ नरेश पटेल और एसआइ साइबर शाखा विक्रम धु्रव हैं।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस