रायपुर, राज्‍य ब्‍यूरो। छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल कैबिनेट में फेरबदल की अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं। 90 सदस्यीय विधानसभा होने के कारण 13 से ज्यादा मंत्री नहीं बनाए जा सकते। इस वजह से चर्चा चेहरे बदलने की हो रही है। राज्य के तीन संभागों से एक-एक मंत्रियों की छुट्टी होने बात कही जा रही है। मंत्रियों की छुट्टी कामकाज के आधार पर करने की तैयारी है। राज्य में कांग्रेस की सरकार बने करीब 18 महीने हो गए हैं।  

कामों की समीक्षा कर मंत्रिमंडल में होगा बदलाव 
प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने मंत्रिमंडल के गठन के समय ही स्पष्ट किया था, कि मंत्रियों के कामों की हर साल समीक्षा होगी। उन्होंने कहा था कि पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी चाहते हैं कि मंत्रियों के कामों की समीक्षा कर मंत्रिमंडल में बदलाव किया जाए। यह समीक्षा लगातार होनी चाहिए। पुनिया ने कहा था कि हर मंत्री को कम से कम एक साल काम करने के लिए जरूर मिलेगा। इस आधार पर इन 18 महीनों में विधानसभा में सदन के अंदर से लेकर बाहर तक मंत्रियों के प्रदर्शन की लगातार समीक्षा की गई है। 
 
दो मंत्रियों को लेकर कई शिकायतें
राज्य कैबिनेट में रायपुर और बस्तर संभाग का प्रतिनिधित्व करने वाले महज एक-एक मंत्री हैं। वहीं, बिलासपुर संभाग से दो और सरगुजा संभाग से तीन मंत्री हैं। सबसे ज्यादा छह मंत्री अकेले दुर्ग संभाग के हैं। इसके बावजूद कैबिनेट से जिन मंत्रियों के छुट्टी करने की चर्चा है, उनमें दुर्ग संभाग से एक भी नाम नहीं है। सत्ता के गलियारे में कैबिनेट के बदलाव को लेकर जो चर्चा में है उसमें सरगुजा, बिलासपुर और बस्तर संभाग से एक-एक चेहरे बदलने की है। इनमें से दो मंत्रियों को लेकर कई शिकायतें भी हैं। एक मंत्री के करीबियों पर पिछले कुछ दिनों से लगातार कार्यवाही भी हो रही है।
 
69 विधायकों में कई दावेदार
कांग्रेस के पास 69 विधायक है, इनमें कई वरिष्ठ विधायक हैं जो पहले मंत्री भी रह चुके हैं। वे कैबिनेट में शामिल नहीं किए जाने से नाराज भी हैं। फेरबदल में इनमें से कुछ का भला हो सकता है बाकी नए चेहरों को लिए जाने की संभावना ज्यादा है।
 
जकांछ के विलय की स्थिति में भी फेरबदल जरूरी 
इस बीच जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के कांग्रेस में विलय की चर्चा जोर पड़ती जा रही है। इस स्थिति में भी राज्य मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावना बन रही है। जकांछ से कांग्रेस में आने वाले चार में से न्यूनतम एक और अधिकतम दो लोगों को मंत्री बनाया जा सकता है। हालांकि पार्टी के नेता अभी विलय की संभावना से ही इन्कार कर रहे हैं।
 
 
 
संभागवार स्थिति
 
संभाग
संख्या
नाम
 
रायपुर
01
डॉ. शिव कुमार डहरिया
 
दुर्ग
06
भूपेश बघेल, ताम्रध्वज साहू, रविंद्र चौबे, मोहम्मद अबकर, गुरुद्र कुमार, अनिला भेंड़िया
 
सरगुजा
03
टीएस सिंहदेव, डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, अमरजीत भगत
 
बस्तर
01
कवासी लखमा
 
बिलासपुर
02
उमेश पटेल व जय सिंह अग्रवाल
 
कैबिनेट की जातिगत स्थिति
 
ओबीसी
04
 
एससी
02
 
एसटी
04
 
सवर्ण
03
 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस