नई दिल्ली, एजेंसी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मंगलवार को मध्य दिल्ली के कृष्णा मेनन मार्ग स्थित पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बंगले में रहने पहुंचे। वह पहले अकबर रोड के एक बंगले में रहा करते थे।अमित शाह का पुराना वाला निवास 11, अकबर रोड अब संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी के नाम आवंटिक कर दिया गया है।

भाजपा द्वारा लगातार दूसरी बार सत्ता में आने के बाद गृह मंत्री अमित शाह को अटल जी का बंगला आवंटित किया गया था। कृष्ण मेनन मार्ग पर स्थित यह बंगला पिछले साल अटल जी के निधन के बाद खाली हो गया था।

2004 में बंगले में शिफ्ट हुए थे 'अटल जी'
अटल बिहारी वाजपेयी साल 2004 में इस बंगले में रहने आए थे। इस बंगले में वह अपने परिवार के साथ लगभग 14 सालों तक रहे। पिछले साल अगस्त में अटल जी के निधन के बाद इस बंगले को उनके परिवार ने नवंबर 2018 में खाली कर दिया था।

मोदी सरकार ने बदला था बंगले से जुड़ा नियम
साल 2014 में जह केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार बनी तो उन्होंने एक ऐतिहासिक फैसला लिया। मोदी सरकार ने तय किया कि दिल्ली में मौजूद ऐसे किसी भी बंगले को जिसमें कोई नेता रह रहें हों, उनके निधन के बाद स्मारक घोषित नहीं किया जाएगा।

अटल जी के नाम बना स्मारक
मोदी सरकार अटल बिहारी वाजपेयी के लिए पहले ही 'सदैव अटल' नाम स्मारक बना चुकी है। यह राष्ट्रीय स्मृति स्थल के पास मौजूद है। यह एक ऐसी जगह है जिसे पूर्व राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री जैसे व्यक्तियों के अंतिम संस्कार के लिए तय किया गया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस