नई दिल्ली, एजेंसी। महाराष्‍ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। इन चुनावों के लिए भाजपा ने कमर कस ली है। पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित कई मंत्री और नेता प्रचार कर रहे हैं। देश से जुड़े बड़े मुद्दों और दोनों राज्‍यों को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से एक टीवी चैनल पर बातचीत की गई।  उन्‍होंने कहा कि अगर महाराष्ट्र में एनडीए की सरकार बनी तो देवेंद्र फडणवीस ही मुख्यमंत्री होंगे। उन्‍होंने दावा किया कि महाराष्ट्र में एनडीए दो तिहाई बहुमत से सत्ता में आएगी, इसका उन्हें पूरा विश्वास है।

महाराष्ट्र और हरियाणा में भाजपा की भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चली

महाराष्ट्र और हरियाणा में विपक्षविहीन चुनाव के सवाल पर शाह ने कहा कि दोनों राज्‍यों में में भारतीय जनता पार्टी दो तिहाई से ज्‍यादा बहुमत से सरकार बनाएगी। महाराष्‍ट्र को 13 वां  वित्‍त आयोग से ज्‍यादा रुपया मिला है। महाराष्‍ट्र जो शिक्षा, पानी, उद्योग, बिजली आदि के क्षेत्रों में 15 वें नंबर पर चला गया था, अब सहकारिता, निवेश आदि में क्षेत्रों में देवेंद्र फणनवीस के नेतृत्‍व में 1 से 5 वें नंबर पर पहुंचा है। 19 हजारों गांवों में जलयुट सीवर योजना से सिंचाई का पानी पहुंचा है। देवेंद्र फणनवीस के नेतृत्‍व में महाराष्‍ट्र ने पुन: अपनी गरिमा हासिल की है। उसी तरह हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने सभी जाति और क्षेत्र से ऊपर उठकर काम किया है। हरियााणा के हर घर में गैस का सिलेंडर है। हरियाणा को पूरी तरह केरोसिन मुक्‍त किया गया है। 80 फीसद लोगों के घर में टॉयलेट है। हर घर में बिजली पहुंची है। सड़कों का जाल बना है। अनाज और धान को रखने का प्रबंध किया है। फडणवीस और खट्टर दोनों पहली बार मुख्यमंत्री बने, लेकिन उन्होंने काफी अच्छे तरीके से सरकार चलाया। दोनों ने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाई, सरकार पर कोई दाग नहीं लगने दिया। दोनों राज्‍यों में भाजपा की भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चली है। मैं इस पर बस इतना ही कहूंगा कि हरियाणा और महाराष्ट्र दोनों जगह पर भाजपा दो तिहाई बहुमत के साथ सत्ता में आ रही है। इसलिए हमें पूरा भरोसा है कि हमें जनता का पूरा साथ मिलेगा।  

शरद पवार से कोई मनमुटाव नहीं, जांच के बाद नतीजे आएंगे 

एकतरफ एनसीपी प्रमुख शरद पवार के जन्‍मदिन पर पीएम मोदी की बधाई, तो वहीं दूसरी तरफ उनके खिलाफ जांच के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि वे प्रतिष्ठित नेता हैं। अच्छे कार्यों के लिए किसी भी नेता की तारीफ करना गलत बात नहीं है। हमारा उनके साथ कोई मनमुटाव नहीं है। जांच किसी को देखकर नहीं की जाती है। वैसे भी शरद पवार किसी मामले में दोषी नहीं पाए गए हैं। अभी जांच चल रही है, आखिर में नतीजे आएंगे।

रिजल्‍ट आने के बाद आदित्‍य को डिप्‍टी सीएम बनाने के बारे में सोचा जाएगा

महाराष्ट्र में शिवसेना की दावेदारी के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि एनडीए महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में चुनाव लड़ रहा है। हमें पूरा भरोसा है कि हम दो तिहाई बहुमत से सत्ता में आएंगे और देवेंद्र फडणवीस ही मुख्यमंत्री बनेंगे। महाराष्ट्र में शिवसेना के आदित्य ठाकरे को उपमुख्यमंत्री बनने का मौका मिलने के सवाल पर भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा कि ये बातें चुनाव का परिणाम आने के बाद सोचा जाएगा। ध्‍यान देने वाली बात यह है कि पहली बार ठाकरे परिवार से आदित्य को चुनाव में उतारा गया है।

370 की इनसाइड स्‍टोरी

370 को लेकर इनसाइड स्‍टोरी के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि इस विभाग का मैं मंत्री था, इसलिए इस बिल को मैंने प्रस्‍तुत किया। यह फैसला प्रधानमंत्री ने लिया। बचपन से कश्‍मीर को लेकर श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी का नारे को सुनते रहे हैं। इसकी कोई इनसाइड स्‍टोरी नहीं है। जनता ने एनडीए को 300 से ज्‍यादा सीटें दी। अनुकूल लगते ही मोदी जी ने फैसला ले लिया। वहीं राज्‍यसभा में हमारा बहुमत होते ही यह ब‍िल पारित किया गया। ढेर सारी पार्टियों तेलुगूदेशम और आप जो हमारे खिलाफ लड़ती हैं, ने देशहित में इस बिल का समर्थन किया। कई पार्टियों के सांसदों ने अपनी पार्टी का विरोध करते हुए इस बिल का समर्थन किया और कई अनुपस्थित रहे। वोटबैंक की राजनीति करने वाली पार्टियों ने इस बिल का विरोध किया। इसमें दोनों खेमें स्‍पष्‍ट थे। दोनों सदन में यह ब‍िल दो तिहाई बहुमत से पारित हुआ। इसके संवैधानिक ऑर्डर को सदन में प्रस्‍तुत किया गया। इसका सदन ने अनुमोदन किया। यह संवैधानिक प्रक्रिया है। 

370 को हटाने की रणनीति      

सिर्फ 35 ए को हटाने की अटकलें को लेकर उन्‍होंने कहा कि अनुच्‍छेद 370 और 35 ए को एक साथ नहीं हटाते तो काम अधूरा रहता। अनुच्‍छेद 370 का इस्‍तेमाल आतंकवाद और अंत में जम्‍मू-कश्‍मीर में आजादी की भ्रांति खड़ी की गई। यह भ्रांति समाप्‍त हो गई। 370 ने भ्रष्‍टाचार और आतंकवाद को बढ़ावा दिया।  35 ए अन्‍यायी धारा थी और जम्‍मू-कश्‍मीर के विकास में बाधक थी। 

जम्‍मू कश्‍मीर में स्थिति सामान्‍य 

जम्‍मू कश्‍मीर की वर्तमान स्थिति के बारे में उन्‍होंने कहा कि वहां केवल 106 थानों में धारा 144 लागू है। यह देश के अन्‍य भागों में भी लागू है। वहां की स्थिति अब सामान्‍य है और कश्‍मीर में पूरी तरह शांति है। इस बारे में पूरी दुनिया भारत के साथ है। इस समय वहां 100 फीसदी नार्मलसी है। यात्रियों को जाने के लिए कोई अनुमति लेने की जरूरत नहीं है और वहां पर व्‍यापार हो रहा है। 

कांग्रेस ने शेख अब्‍दुल्‍ला को 11 साल तक जेल में रखा

तीन पूर्व मुख्‍यमंत्रियों की हिरासत के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस को इस मुद्दे को उठाने का अधिकार नहीं है। उसने शेख अब्‍दुल्‍ला को 11 साल तक जेल में रखा। उसने प्रकाश सिंह बादल कई सालों तक जेल में  रखा। पूर्व मुख्‍यमंत्रियों को छोड़ने का काम सुरक्षा एजेंसियों पर निर्भर करेगा। स्थितियां सामान्‍य होते ही उनको भी छोड़ दिया जाएगा।     

चिदंबरम की गिरफ्तारी के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि इसमें कोई राजनीतिक प्रतिशोध नहीं है। उनकी गिरफ्तारी करनी होती तो पिछले कार्यकाल में ही हो जाती। उनका ढंग से जांच हुई और कोर्ट के सामने उनका पक्ष रखा गया। उनको भी कोर्ट में अपना पक्ष रखने की आजादी है। आज ईडी और सीबीआइ गृह मंत्रालय के अंर्तगत नहीं आता है। टुकड़े-टुकड़े गैंग को 125 करोड़ जनता ने जवाब दे दिया है। 

एनआरसी का सफलतापूर्वक संचालन होगा 

हम एनआरसी को सफलतापूर्वक संचालन करेंगे। एनआरसी और सिटीजन अमेंडमेंट बिल दोनों कानून मिलकर यह प्रक्रिया पूरी होगी। एनआरसी में जो छिद्र रह गए हैं, उसका अध्‍ययन करेंगे। 

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप