नई दिल्ली,एएनआइ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने रविवार को कहा कि गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल सरकार की कार्यप्रणाली को बिगाड़ने के लिए पश्चिम बंगाल में रैलियां कर रहे हैं। पुनिया ने समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए कहा,  'गृह मंत्री अमित शाह नागरिकता संशोधन कानून 2019 (CAA) के समर्थन में पश्चिम बंगाल में एक रैली कर रहे हैं। अगर उन्हें लगता है कि कानून में कुछ भी गलत नहीं है, तो वे रैलियां निकालने का नाटक क्यों कर रहे हैं। भाजपा, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार को परेशान करने के लिए सभी कदम उठा रही है। पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर भारत के कई भाजपा नेता सीएए के खिलाफ हैं। कानून देश को विभाजित करने वाला है।' 

पुनिया ने आगे कहा कि देश के हर राज्य ने सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन देखा गया है। कुछ राज्यों ने कानून के खिलाफ प्रस्ताव भी पारित किए हैं और एनपीआर की भी निंदा की है। उनकी यह टिप्पणी गृह मंत्री अमित शाह की पश्चिम बंगाल की यात्रा के दौरान आई है, जहां शाह ने एक रैली को संबोधित किया।

भाजपा नेताओं के भड़काऊ भाषणों के कारण दिल्ली में हिंसा हुई- पुनिया 

पुनिया ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं के भड़काऊ भाषणों के कारण दिल्ली में हिंसा हुई। दिल्ली में हुई हिंसा बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। भाजपा नेताओं द्वारा उकसाने वाले भाषणों से यह हिंसा भड़की। यहां तक कि उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज नहीं की गई। सरकार और दिल्ली पुलिस को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

सीएए से किसी की नागरिकता नहीं जाएगी- शाह
बता दें कि पश्चिम बंगाल में एक रैली के दौरान शाह ने कहा कि सीएए से किसी की नागरिकता नहीं जाएगी। विपक्ष सीएए के बारे में गलत धारणा बनाकर शरणार्थियों को आतंकित कर रहा है। सीएम ममता बनर्जी हमें शरणार्थियों को नागरिकता देने से नहीं रोक सकेंगी। हम 2021 के विधानसभा चुनावों के बाद दो-तिहाई बहुमत के साथ बंगाल में अगली सरकार बनाएंगे। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस