नई दिल्‍ली, एएनआइ। त्रिपुरा में इस महीने ही विधानसभा चुनाव हैं, जिसको लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने आज एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि हम त्रिपुरा में हिंसा की राजनीत को विकास की राजनीति में बदलना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में स्टालिन और लेनिन की जयंती मनाई जाती है, लेकिन टैगोर और विवेकानंद की नहीं। इसके साथ अमित शाह ने रैली में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आप त्रिपुरा में भाजपा की सरकार लाइए, हम पांच साल के भीतर इसे हम एक मॉडल स्‍टेट बना देंगे।

वहीं अमित शाह ने राज्‍य की कम्‍यूनिस्‍ट सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि हम यहां की परिस्थिति में परिवर्तन करना चाहते हैं। यहां लाल भाइयों की सरकार है, कम्‍यूनिस्‍ट की सरकार है। मैं पूछना चाहता हूं कि क्‍या यहां के सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग के अंतर्गत सैलरी मिलती है क्‍या?

अमित शाह ने आगे यह भी कहा कि यहां की जनता को दबाया जाता है। उनको वोट देने के लिए जाने नहीं दिया जाता। मैं पूरी सीपीएम को कहना चाहता हूं कि इस बार मुकाबला भाजपा से है, संभल जाइए। गौरतलब है कि त्रिपुरा में 60 सीटों पर विधानसभा का चुनाव 18 फरवरी को होने जा रहा है और इसके परिणाम तीन मार्च को जारी होंगे। अमित शाह कई जगहों पर रैली करने वाले हैं। 

Posted By: Pratibha Kumari