जागरण ब्यूरो,नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों के आगामी चुनाव की घोषणा में अब संभवत: दो माह का वक्त बचा है। राजनीतिक दलों ने मुद्दों को धार देना शुरू कर दिया है। ऐसे में बुधवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भाजपा के वार रूम में कुछ लोगों के साथ चुनावी तैयारियों और प्रबंधन पर चर्चा की। बताया जाता है कि इस बैठक में केंद्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, भाजपा महासचिव अरुण सिंह समेत कुछ अन्य नेता मौजूद थे। सूत्रों के अनुसार लगभग ढाई घंटे चली बैठक में प्रबंधन ही मुख्य मुद्दा था।

दरअसल पंजाब को छोड़कर बाकी के चार राज्य उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा भाजपा के लिए अहम हैं। उत्तर प्रदेश के महत्व को देखते हुए वहां हाल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और शाह कई दौरे कर चुके हैं। उत्तराखंड में भी कुछ दिन पहले ही पीएम ने एक तरह से चुनावी अभियान की शुरूआत कर दी। शाह अगले कुछ दिनों में गोवा जाने वाले हैं। जबकि मणिपुर में दो दिन पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा का सम्मेलन हो चुका है। उत्तर प्रदेश में लखीमपुर खीरी को लेकर विपक्ष हावी होने की कोशिश कर रहा है। ऐसे में बुधवार को वार रूम में शाह की बैठक को प्रबंधन से ही जोड़ा जा रहा है।

गृह मंत्री अमित शाह अगले साल गोवा में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की तैयारियों की समीक्षा करेंगे। पार्टी के गोवा चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को यह जानकारी दी। वह गुरुवार को राज्य के दौरे पर होंगे। इस दौरान कुछ सरकारी कार्यक्रम और पार्टी कार्यक्रम में भी हिस्सा लेंगे। वह पार्टी कार्यकर्ताओं और विधायकों से भी मुलाकात करेंगे। फडणवीस और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि शाह के तटीय राज्य के दौरे की तैयारियों की समीक्षा के लिए गोवा में हैं। शाह के दक्षिण गोवा में एक फोरेंसिक विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने की भी उम्मीद है।

Edited By: Tanisk