नई दिल्ली, प्रेट्र : समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि वह प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में नहीं हैं, लेकिन किसी एक को बनाना चाहते हैं। उत्तर प्रदेश ने देश को हमेशा प्रधानमंत्री दिया है। जिस किसी की इच्छा है वह नरेंद्र मोदी की तरह इस राज्य में आए।

एक कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने पिता मुलायम सिंह यादव द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को दी गई शुभकामना पर सवाल को खारिज कर दिया। मुलायम ने लोकसभा में कहा था कि उनकी इच्छा है कि मोदी फिर प्रधानमंत्री बनें। अखिलेश ने कहा कि क्या नेताजी (मुलायम) ने डॉ. मनमोहन सिंह को उसी तरह लोकसभा चुनाव से पहले शुभकामना नहीं दी थी? और वह सत्ता में लौटे?

अखिलेश ने कहा, 'मैं प्रधानमंत्री बनना नहीं चाहता। मैं दौड़ में नहीं हूं, लेकिन एक को बनाना चाहता हूं। हम प्रधानमंत्री बनाना जानते हैं।' यह पूछने पर कि क्या वह चाहते हैं कि बसपा प्रमुख मायावती प्रधानमंत्री बनें, उन्होंने उत्तर दिया, 'यदि कोई उत्तर प्रदेश से प्रधानमंत्री बने तो हमें खुशी होगी।'

अखिलेश ने दावा किया कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश में महागठबंधन का हिस्सा रही। लेकिन वह इस बात का उत्तर नहीं दे सके कि सपा और कांग्रेस किस तरह लोकसभा चुनाव एक दूसरे के खिलाफ अपने दम पर लड़ेंगी। उन्होंने कहा कि सपा और बसपा मोदी की डर से एक दूसरे के करीब नहीं आई हैं। यह संविधान और देश को बचाने की लड़ाई है।

अखिलेश ने सवाल किया, 'सपा, बसपा, कांग्रेस और अन्य क्षेत्रीय पार्टियां हमारे साथ हैं और उत्तर प्रदेश में महागठबंधन है। जब बसपा, सपा, कांग्रेस, रालोद और निषाद पार्टी एकजुट हैं तो क्या यह गठबंधन नहीं है? गठबंधन है और कांग्रेस हमारे साथ है। उत्तर प्रदेश को हाथ भी पसंद है और हाथी भी पसंद है।'

 

Posted By: Sachin Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस