नई दिल्ली, एएनआइ। मेघालय में कांग्रेस के 17 में से 12 विधायकों के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के बाद, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने गुरुवार को चुनौती दी कि टीएमसी उन्हें पहले पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़वाकर दिखाए। बुधवार को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने दावा किया कि मेघालय से कांग्रेस के 12 विधायक उनकी पार्टी में शामिल हो गए हैं।

चौधरी ने कहा, 'कांग्रेस को तोड़ने की ये साजिश सिर्फ मेघालय में ही नहीं बल्कि पूरे पूर्वोत्तर में हो रही है। मैं टीएमसी को चुनौती देता हूं कि वे कांग्रेस विधायकों से विधायक पद से इस्तीफा दिलाएं और टीएमसी के टिकट पर चुनाव लड़वाकर दिखाएं। भले ही वे टीएमसी में शामिल हुए हों, फिर भी वे कांग्रेस विधायक हैं और कांग्रेस के मतदाताओं ने उन्हें वोट दिया है। अगर वे टीएमसी के टिकट पर जीत जाते हैं तो हम आपकी क्षमता को पहचानेंगे।'

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनौती देता हूं कि पहले विधायकों को टीएमसी के चुनाव चिह्न पर लड़वाकर दिखाएं और फिर औपचारिक रूप से उनकी पार्टी में उनका स्वागत करें।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि टीएमसी कांग्रेस को बांटना चाहती है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा की मदद करना चाहती है। वे बोले, 'अगर वह (ममता बनर्जी) अभी सोनिया गांधी से मिलती हैं, तो पीएम मोदी नाराज हो जाएंगे। ईडी द्वारा उनके भतीजे को तलब किए जाने के तुरंत बाद उनकी हरकतें बदल गईं। इससे पहले उन्होंने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर भाजपा के खिलाफ मिलकर लड़ने को कहा था।'

चौधरी ने कांग्रेस विधायकों का TMC की ओर रुख करने पर आगे कहा, 'यह सब प्रशांत किशोर और टीएमसी के नेता लुईजिन्हो फलेरियो कर रहे हैं। हमें इसकी जानकारी थी।'

Edited By: Nitin Arora