महराजगंज, जेएनएन। भारत- नेपाल सीमा सील होने से नेपाल के बेलहिया में पिछले चार दिनों से फंसे 44 भारतीय पर्यटक शुक्रवार की देर रात भारत पहुंच गए। सभी पर्यटकों को सोनौली स्थित गेस्ट हाउस में ठहराया गया है।

पर्यटकों से मिले डीएम व एसपी

शनिवार को महराजगंज के जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार व एसपी रोहित सिंह सजवान ने इन पर्यटकों से मिल कर हाल जाना। उन्हें कोई असुविधा न हो, इसके लिए स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिया। पर्यटकों के फंसे होने की जानकारी मिलने के जिलाधिकारी ने नेपाल के रुपंदेही जिले के समकक्ष अधिकारी सीडीओ महादेव पंत से फोन पर वार्ता की। जिलाधिकारी के निर्देश पर भेजे गए एसडीएम नौतनवां जसधीर सिंह व सीओ राजू कुमार साव बेलहिया पहुंचे और सभी को सोनौली सीमा से भारत में प्रवेश दिलाया। इनमें तमिलनाडु के 32, मणिपुर, मध्य प्रदेश के एक-एक, उत्तर प्रदेश के बस्ती के एक,  इलाहाबाद के पांच व वाराणसी, गोरखपुर के दो-दो पर्यटक हैं।

इन्‍हें नेपाल से लाया गया

चेन्नई (तमिलनाडु) के एम. अरुमुगन, ए. सरस्वती, अनंति, करपागम, नीलावती, एल. जगनाथन, जे. बराठी, बी. विनोठी, पी. बरन, बी.रनुगा, पी. धनालक्ष्मी, पी. करुणापई, चितरा श्रीराम, के. अलामालू, कृष्णमूर्ति, रंगामल, आर. पलानी, के. विनोद, बसैय्या, मनोगरी, शकुंतला, मुथुरलक्ष्मी, पलायन स्वामी, शांति, लक्ष्मी, सलवागंथी, जया बराठी, बैज्ञाम, एस. मंगलम, चंदीरा, ई. नवानीथन, कस्तूरी। इंफाल (मणिपुर) की लक्की गौंडा। इंदौर (मध्य प्रदेश) के सतीश लोहवंशी, बस्ती (उत्तर प्रदेश) के उर्मिला रामानंद पाल, गोरखपुर के सुमित शर्मा व आनंद, इलाहाबाद के भोलानाथ, रङ्क्षवद्र कुमार, राजकुमार, मनीकुंदन, भीम प्रसाद भंडारी और वाराणसी के साबिर व सलीम को नेपाल  से लाया गया है।

चेन्नई में फंसे गोरखपुर के 22 युवकों ने सीएम से मांगी मदद

उधर, गोरखपुर के रहने वाले 22 युवक चेन्नई में फंसे हैं। शनिवार को सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड कर उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मदद मांगी। युवकों ने कहा कि चेन्नई में वह जहां पर हैं वहीं भोजन व पानी का प्रबंध हो जाए। चेन्नई में गोरखपुर के सरहरी क्षेत्र के 22 युवक काम करते हैं। लॉकडाउन के चलते फैक्ट्री बंद होने की वजह से फंस गए हैं और घर आने में असमर्थ हैं साथ ही साथ उन्हें अपनी जीविका चलाना भी दुश्वार हो गया है। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में युवक बता रहे है कि उनके एक साथी को तेज बुखार और सर्दी है। मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाते हुए यह वीडियो उन्होंने कई परिचितों को भेजा है। शिक्षक नेता डॉ. पुरुषोत्तम यादव ने नेशनल कोरोना हेल्पलाइन और चेन्नई के डॉक्टरों को इसकी जानकारी दी है। डॉक्टरों ने उन्हें मदद का आश्वासन भी दिया है।

पूर्वांचल के 250 लोग फंसे हैं

परिजनों व शुभचिंतकों को वीडियो भेजकर युवकों ने बताया है कि उनके अलावा कुशीनगर, देवरिया, बस्ती समेत पूर्वांचल के अन्य जिलो के रहने वाले 250 लोग फंसे हैं। सभी एक ही स्थान पर काम करते हैं। 

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस