सियोल (एएनआई)। दक्षिण कोरिया के सियोल में पीएम मोदी ने कहा कि भारत और कोरिया के बीच आत्मीयता का यह संपर्क नया नहीं है। प्राचीन काल में भारत की राजकुमारी सूरीरत्ना हजारों किलोमीटर की यात्रा कर यहां आईं थीं। यहां पर भारतीय मेधा और कौशल का बहुत सम्मान है। आप कोरिया में रिसर्च और इनोवेशन में योगदान दे रहे हैं।

भारत और कोरिया के संबंधों का आधार केवल बिजनस समझौता नहीं है बल्कि इसका मुख्य आधार है पीपल टू पीपल कॉन्टैक्ट। आप भारत के एम्बेसडर हैं। 3 करोड़ भारतीय जो विदेश में रहते हैं उनकी कड़ी मेहनत, अनुशासन से दुनियाभर में देश की साख बढ़ी है। कोरिया के साथ हर दिन हमारे संबंध मजबूत रहे हैं और मजबूती के साथ बढ़ते जा रहे है। कोरिया और भारत शांति, स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने में कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रहे हैं ।

हम आज दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था हैं। हमारी अर्थव्यवस्था के आधार मजबूत हैं। दुनिया में सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था भारत की है और अगले कुछ ही साल में भारत पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनने में तेजी से आगे बढ़ रहा है।

भारत में आज जीएसटी सिस्टम का हिस्सा है। पहले सरदार वल्लभ भाई पटेल ने देश को एक किया था, उसके बाद आर्थिक रूप से देश के एकीकरण का काम जीएसटी ने किया है। डिजिटल इंडिया से भारत के लोगों के जीवन में तेजी से बदलाव लाए गए हैं। देश के सवा लाख गांवों में ऑप्टिकल फाइबर पहुंचा दी गई है। दुनिया में भारत को इन्वेस्टमेंट के लिए सबसे उचित जगह माना जा रहा है, देश को पिछले चार साल में रिकॉर्ड 263 बिलियन डॉलर का एफडीआई प्राप्त हुआ है।
 

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस