इस्‍लामाबाद, एएनआइ। सप्‍ताह में दो दिन सोमवार और गुरुवार को भारत पाकिस्‍तान के बीच चलने वाली ट्रेन समझौता एक्‍सप्रेस पर पाकिस्‍तान ने गुरुवार को रोक लगा दी है। ट्रेन के बदले पाकिस्‍तान से संदेश आया कि अटारी से ट्रेन को लेने के लिए भारत अपने ड्राइवर को भेजे। बार्डर पर रुकी ट्रेन में लोग फंस गए थे। वहां ड्राइवर और गार्ड को भेजकर ट्रेन को वापस लाया गया। ट्रेन में कुल 117 यात्री सवार थे, जिसमें 76 भारतीय और 41 पाकिस्‍तानी यात्री थे। पाकिस्‍तानी मीडिया के अनुसार, इस्‍लामाबाद ने अपने ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को समझौता एक्सप्रेस के साथ भेजने से इंकार कर दिया।

पाकिस्‍तानी रेल मंत्री का एलान

बता दें कि पाकिस्‍तान के रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने समझौता एक्‍सप्रेस के परिचालन को रोकने का एलान कर दिया और कहा कि जो लोग टिकट खरीद चुके हैं वे लाहौर में रेलवे डिविजनल सुप्रिटेंडेंट ऑफिस से अपने पैसे वापस ले जाएं। रेल मंत्री के अनुसार अब ट्रेन की बोगियों को ईद के मौके पर यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

लाहौर रेलवे स्‍टेशन पर भारत आने के लिए ट्रेन के इंतजार में

लाहौर रेलवे स्‍टेशन पर भारत आने के लिए ट्रेन का इंतजार कर रहे यात्रियों के लिए रेलवे की ओर से यह एलान किया गया। रेल मंत्री ने चेतावनी भरे लहजे में कहा, 'अगला तीन से चार महीना काफी महत्‍वपूर्ण है। पाकिस्‍तान युद्ध नहीं चाहता और यदि युद्ध छेड़ा जाता है तो यह अंतिम होगा।'

22 जुलाई 1976 में शुरू हुई थी समझौता एक्‍सप्रेस 

शिमला समझौते के तहत यह सेवा 22 जुलाई 1976 को शुरू की गई थी। समझौता एक्सप्रेस सप्‍ताह में दो दिन गुरुवार और सोमवार को दिल्ली से लाहौर तक जाती है। इस साल के शुरुआत में भी दोनों देशों के बीच तनाव के कारण इस ट्रेन के परिचालन को रोका गया था। पाकिस्तान सरकार ने इस ट्रेन को 26 फरवरी को बालाकोट में भारतीय वायुसेना की स्ट्राइक के बाद रोक दिया था। लेकिन बाद में सेवा फिर से शुरू हो गई थी। इस ट्रेन में 6 स्लीपर कोच और एक एसी 3 टियर कोच है। इससे पहले भी पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान आने जाने वाले यात्रियों की संख्या में भारी कमी आई थी।

बौखलाहट में पाक कर रहा ऐसी हरकतें

उल्‍लेखनीय है कि भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर में अनुच्‍छेद 370 (Article-370) को हटाए जाने व इसके पुनर्गठन से सबसे ज्‍यादा पाकिस्‍तान बौखला गया है। इसकी तिलमिलाहट स्‍पष्‍ट नजर आ रही है। बौखलाए पाकिस्तान की ओर से भारत को लेकर धड़ाधड़ फैसले लिए जा रहे हैं।  इससे पहले बुधवार को उसने भारत के साथ व्यापार रोकने की घोषणा की थी। पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को वापस भारत लौटने को तो कहा ही साथ ही पाकिस्तान भारत के लिए नियुक्त किए गए अपने उच्चायुक्त को दिल्ली नहीं भेजने का फैसला ले लिया। राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने कूटनीतिक संबंधों को भी कम करने का फैसला लिया है।

दो दिनों में ही पाकिस्तान ने ले लिए ये फैसले

- संयुक्‍त राष्‍ट्र में कश्‍मीर मामले को उठाने का एलान

- भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को कम करने का फैसला

- भारत के साथ व्‍यापारिक संबंध तोड़ दिए

- भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया को वापस भेजने का फैसला

- कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में उठाने की बात कही

- भारत की सीमा से लगे एयरस्पेस को किया बंद

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Monika Minal